ATM Ka Full Form Kya Hai | ATM क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में

0
ATM Ka Full Form Kya Hai | ATM क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको इस Article में ATM Ka Full Form Kya Hai ? के बारे में बताएंगे, अगर आप ATM Full Form के बारे में नहीं जानते हैं तो हमारे Article को ध्यान से पढ़ें।

इस Article में हम आपको न सिर्फ ATM Full Form के बारे में बताएंगे बल्कि ATM क्या है? ATM से हम कौन-सा काम कर सकते हैं, इसके निर्माण से क्या-क्या फायदे होते हैं और ATM, इन सभी विषयों को हम इस Article में बताएंगे, पूरी जानकारी के लिए हमारा Article जरूर पढ़ें।


यह भी पढ़ें :- MMS Ka Full Form Kya Hai | MMS का फुल फॉर्म क्या है?


1. ATM Ka Full Form Kya Hai ?

आज के समय में ATM का इस्तेमाल करने वाला हर घर में कोई न कोई व्यक्ति जरूर होता है, लेकिन बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जिन्हें ATM का Full Form पता होता है, अक्सर घरों में लोग उनसे ATM से पैसे निकालने के लिए कहते हैं। लेकिन इसका Full Form बहुत कम लोग जानते हैं। तो आज हम जानते हैं कि इसका Full Form क्या होता है।

  • A – Automated 
  • T – teller 
  • M – Machine

ATM Full Form in english – ATM – Automated teller Machine

ATM Full Form in Hindi – ATM – स्वचालित गणक मशीन


यह भी पढ़ें :- IB Full Form In Hindi | IB का Full Form क्या है ?


2. ATM का फुल फॉर्म हिंदी में

आइए अब जानते हैं कि ATM का फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता है।

    ए – स्वचालित

    टी – टेलर

    एम – मशीन


यह भी पढ़ें :- JEE का Full Form क्या है? | JEE क्या है?


3. एटीएम के दुसरे फुल फॉर्म्स

अब चलिए ATM के कुछ अन्य Full Form के विषय में जानते हैं जो निचे दिए गए हैं.

1. Air traffic Management (Aviation terminologies में)

2. Asynchronous Transfer Mode (I.T. Sector में ) यह एक telecommunications concept होता है जिसे की define किया गया है ANSI और ITU के द्वारा

3. Association of Teachers of Mathematics (यह एक Non-profit organization और registered charity
है UK की)

4. Angkatan Tentera Malaysia (Malaysian Armed Forces)

5. Altamira Airport यह एक airport है जो की Altamira, Brazil (Airport Code) में स्तिथ है.


यह भी पढ़ें :-  Sim Ka Full Form Kya Hai | SIM का Full Form क्या है ?


4. ATM क्या है :-

हम पैसे निकालने के लिए ATM का इस्तेमाल करते हैं। लगभग सभी बैंकों में ATM लगाए गए हैं, या कहें कि प्रत्येक बैंक का अपना ATM है, भारत में लगभग 22 राष्ट्रीयकृत बैंक हैं और इसके अलावा कई निजी बैंक हैं और इन सभी बैंकों की अपनी ATM Machine है। है। भारत में ATM बहुत पहले से मौजूद हैं।

Real in English :- What Is ATM

पहले ATM का इस्तेमाल सिर्फ पैसे निकालने के लिए किया जाता था, लेकिन आज के समय में ATM का इस्तेमाल कई कामों में किया जाता है, आज हम ATM की मदद से बैलेंस चेक कर सकते हैं और कई काम भी कर सकते हैं.

ATM एक इलेक्ट्रॉनिक दूरसंचार उपकरण है जिसका उपयोग किसी भी समय नकद निकासी, जमा, फंड ट्रांसफर और अन्य बैंक से संबंधित लेनदेन जैसे वित्तीय लेनदेन के लिए किया जाता है। इससे बैंकिंग प्रक्रिया बहुत आसान हो जाती है क्योंकि ये मशीनें स्वचालित होती हैं और बैंक कर्मचारियों के साथ सीधे संपर्क की कोई आवश्यकता नहीं होती है।

उपयोगकर्ता एक विशेष प्रकार के प्लास्टिक कार्ड के माध्यम से अपने खाते तक पहुंचते हैं, कार्ड के ऊपर एक चुंबकीय पट्टी पर उपयोगकर्ता की जानकारी के साथ एन्कोड किया गया। पट्टी में एक पहचान कोड होता है जो मॉडम द्वारा बैंक के केंद्रीय कंप्यूटर को भेजा जाता है। उपयोगकर्ता अपने खाते तक पहुंचने और अपने खाते के लेनदेन को संसाधित करने के लिए ATM में कार्ड डालते हैं।


यह भी पढ़ें :- LPG का Full Form क्या है & LPG क्या हैं?


5. ATM के Parts क्या हैं?

ATM में दो तरह के डिवाइस होते हैं जो यूजर्स को इसे आसानी से इस्तेमाल करने में मदद करते हैं।

  • Input Device
  • Output Device

#1 Input Device

Card Reader: कार्ड रीडर ATM कार्ड के डेटा (खाते की जानकारी) को पढ़ता है जो आपके ATM कार्ड के पीछे की तरफ रखी चुंबकीय पट्टी पर संग्रहीत होता है और सत्यापन के लिए सर्वर को भेजता है। उपयोगकर्ता सेवा से प्राप्त खाता जानकारी और आदेशों के आधार पर नकद निकासी की अनुमति देता है।

Keypad: कीपैड आपको पिन, आप कितना पैसा निकालना चाहते हैं और अन्य सुविधाओं जैसे रद्द करना, साफ़ करना, दर्ज करना आदि जैसे विवरण इनपुट करने की अनुमति देता है।

#2 Output Device

Screen: इसका उपयोग खाता जानकारी (खाता धारक का नाम, उपलब्ध शेष राशि, आदि) और आपके लेनदेन को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए आवश्यक कार्यों को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है।

Speaker: अधिकांश ATM में Speakerउपलब्ध हैं। जब आप अपना लेनदेन करते हैं तो यह ऑडियो फीडबैक प्रदान करने के लिए प्रदान किया जाता है।

Cash dispenser: यह ATM के सबसे महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइसों में से एक है। इसका उपयोग नकद निकालने के लिए किया जाता है।

Receipt printer: यह आपके लेन-देन से संबंधित एक रसीद प्रदान करता है जिसमें निकासी राशि, शेष राशि, तिथि, समय, स्थान आदि शामिल हैं।


यह भी पढ़ें :- NCB का Full Form क्या है & NCB क्या है?


6. ATM कैसे काम करता है?

ATM के कामकाज को शुरू करने के लिए, आपको ATM मशीनों के अंदर प्लास्टिक ATM कार्ड डालना होगा। कुछ मशीनों के लिए आपको अपने कार्ड छोड़ने पड़ते हैं, कुछ मशीनें कार्ड की अदला-बदली की अनुमति देती हैं। जैसा कि मैंने पहले ही उल्लेख किया है, इन ATM कार्डों में चुंबकीय पट्टी के रूप में आपके खाते का विवरण और अन्य सुरक्षा जानकारी होती है।

जब आप अपना कार्ड ड्रॉप/स्वैप करते हैं, तो मशीन आपके खाते की जानकारी प्राप्त करती है और आपका पिन नंबर मांगती है। सफल प्रमाणीकरण के बाद, मशीन लेनदेन की अनुमति देती है।


यह भी पढ़ें :- NIOS का Full Form क्या है & NIOS क्या है?


7. ATM के प्रकार

आइए अब जानते हैं कि ATM कितने प्रकार के होते हैं।

Online ATM: इस प्रकार का ATM 24 घंटे बैंक के डेटाबेस से जुड़ा रहता है। आप अपने खाते में शेष राशि से अधिक नहीं निकाल सकते हैं।

Offline ATM: यह बैंक के डेटाबेस से लिंक नहीं होता है। अगर आपके खाते में जरूरी रकम नहीं है तो भी आप उसे निकाल सकेंगे, जिसके लिए बैंक कुछ जुर्माना लगा सकता है।

On Site ATM: बैंक परिसर के अंदर के ATM को ऑनसाइट ATM के रूप में जाना जाता है।

Off Site ATM: बैंक परिसर के अंदर विभिन्न स्थानों पर स्थित ATM ऑफसाइट ATM के रूप में जाने जाते हैं।

White Label ATM: गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों द्वारा स्थापित ATM को व्हाइट लेबल ATM के रूप में जाना जाता है।

Yellow Label ATM: येलो लेबल ATM ई-कॉमर्स कारणों से प्रदान किए जाते हैं।

Brown Label ATM: इस प्रकार के ATM का हार्डवेयर और ATM मशीन के पट्टे पर एक सेवा प्रदाता का स्वामित्व होता है, लेकिन बैंकिंग नेटवर्क के लिए नकद प्रबंधन और कनेक्टिविटी एक बैंक द्वारा प्रदान की जाती है।

Orange Label ATM: ये ATM शेयर लेनदेन के लिए उपलब्ध कराए जाते हैं।

Pink Label ATM: ये ATM केवल महिलाओं के लिए उपलब्ध कराए जाते हैं।

Green Label ATM: ये ATM कृषि लेनदेन के लिए उपलब्ध कराए जाते हैं।


यह भी पढ़ें :- OPD का Full Form क्या है | OPD क्या है?


8. ATM के बारे में रोचक तथ्य

आइए अब जानते हैं ATM के बारे में कुछ ऐसे रोचक तथ्य जो आपने नहीं सुने होंगे।

#1 ATM का आविष्कारक:

जॉन शेफर्ड बैरोन।

#2 ATM पिन नंबर:

जॉन शेफर्ड बैरन ने ATM के लिए 6 अंकों का पिन नंबर रखने के बारे में सोचा, लेकिन उनकी पत्नी के लिए 6 अंकों का पिन याद रखना आसान नहीं था, इसलिए उन्होंने 4 अंकों का एटीपी पिन नंबर बनाने का फैसला किया।

#3 विश्व का पहला तैरता ATM:

भारतीय स्टेट बैंक (केरल)।

#4 भारत में पहला ATM:

1987 में HSBC (हांगकांग और शंघाई बैंकिंग कॉर्पोरेशन) द्वारा स्थापित।

#5 दुनिया का पहला ATM:

इसकी स्थापना 27 जून 1967 को लंदन के बार्कलेज बैंक में हुई थी।

#6 ATM का उपयोग करने वाला पहला व्यक्ति:

प्रसिद्ध हास्य अभिनेता रेग वर्नी ATM से नकदी निकालने वाले पहले व्यक्ति थे।

#7 बिना खाते के ATM:

रोमानिया जो कि एक यूरोपीय देश है, में कोई भी व्यक्ति बिना बैंक खाते के ATM से पैसे निकाल सकता है।

#8 बायोमेट्रिक ATM:

ब्राजील में बायोमेट्रिक ATM का इस्तेमाल किया जाता है। जैसा कि नाम से पता चलता है, उपयोगकर्ताओं को पैसे निकालने से पहले इन ATM में अपनी उंगलियों को स्कैन करना आवश्यक है।


यह भी पढ़ें :-  PHD Ka Full Form Kya Hai | PHD का फुल फॉर्म | Top 10 PHD Collage


9. ATM के कार्य :-

  • ATM की मदद से हम अपने खाते से बहुत ही आसानी से और बहुत ही कम समय में पैसे निकाल सकते हैं।
  • ATM से हम अपने खाते से किसी और के खाते में पैसे भी भेज सकते हैं।
  • ATM की मदद से आप बैलेंस की भी चेक कर सकते हैं कि हमारे खाते में कितना बैलेंस बचा है.
  • ATM से हम अपना पुराना पिन नंबर बदल सकते हैं और नया पिन कोड नंबर प्राप्त कर सकते हैं
  • ATM की मदद से हम अपने खाते में मोबाइल नंबर भी दर्ज कर सकते हैं और उस मोबाइल नंबर पर संदेश अलर्ट प्राप्त कर सकते हैं।

ATM की मदद से हम किसी भी प्रकार के बिल का भुगतान भी कर सकते हैं।


यह भी पढ़ें :- SBI Ka Full Form Kya Hai | एसबीआई का फुल फॉर्म क्या है ?


10. ATM का निर्माण (उत्पत्ति):-

सबसे पहला ATM 27 जून 1967 को बार्कलेज बैंक ऑफ लंदन द्वारा निकाला गया था। इस Machine को स्कॉटलैंड के आविष्कारक जॉन शेफर्ड बैरन ने काफी मेहनत के बाद बनाया था।

जॉन शेफर्ड ATM का पिन 6 अंकों में डालना चाहते थे, लेकिन उनकी पत्नी ने कहा कि 6 अंकों का पिन याद रखना बहुत मुश्किल होगा और लोग इसे याद नहीं रख पाएंगे, इसलिए बाद में उन्होंने 6 अंकों का पिन को 4 अंकों में बदल दिया। आज के समय पिन के केवल 4 अंक चल रहे हैं।


यह भी पढ़ें :- SHO Ka Full Form Kya Hai | SHO का Full Form क्या है ?


11. ATM के लाभ:-

ATM के आने से ग्राहकों को पैसे निकालने में काफी सहूलियत हो गई है, इस वजह से बैंकों में लंबी-लंबी लाइनें लगाकर उन्हें छुट्टी दे दी गई है और उन्हें किसी भी तरह का कोई Form नहीं भरना है.

  • ATM में 4 अंकों का एक पिन कोड होता है, कौन जानता है कि कोड ATM से पैसे निकाल पाएगा, इससे हमारी सुरक्षा और भी बढ़ गई है।
  • ATM की सुविधा 24 घंटे उपलब्ध है, आप जब चाहें ATM की मदद से पैसे निकाल सकते हैं।
  • ATM की मदद से सभी प्रकार के ऑनलाइन भुगतान किए जा सकते हैं।
  • हम ATM से एक खाते से दूसरे खाते में पैसे भी ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • ATM की मदद से आप आसानी से अपने खाते में पैसे जमा कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें :- Google Ka Full Form Kya Hai ? गूगल का फुल फॉर्म क्या है ?


12. ATM से हानि:-

जिस प्रकार सभी वस्तुओं से कुछ हानि होती है उसी प्रकार ATM से भी कुछ हानि होती है जो इस प्रकार है –

  • अगर ATM का पिन पता चल जाए तो वह आसानी से आपके पैसे चुरा सकता है.
  • अशिक्षित लोगों के लिए इसका उपयोग करना बहुत कठिन कार्य है।

यह भी पढ़ें :- MA Ka Full Form Kya Hai | M. A. का फुल फॉर्म क्या है ?


13. ATM के लिए जरूरी सावधानियां :-

अगर आप ATM का इस्तेमाल कर रहे हैं या इसका इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं तो आपको निम्नलिखित सावधानियां बरतनी होंगी जो इस प्रकार हैं-

  • अपने ATM का पिन अपने किसी दोस्त के रिश्तेदार को और हो सके तो परिवार के किसी सदस्य को न बताएं.
  • पैसे निकालते समय किसी भी बैंक कर्मचारी या किसी अन्य व्यक्ति को अपने ATM कार्ड के बारे में कोई जानकारी न दें.
  • ATM का पिन नंबर याद रखें, इसे कहीं भी इस्तेमाल न करें।
  • पैसे निकालते समय खड़े व्यक्ति को ATM में आपको देखने न दें और पिन लगाते समय बिल्कुल भी न देखें.

 

यह भी पढ़ें :-  MPPSC Ka Full Form Kya Hai | MPPSC का फुल फॉर्म क्या है ?


 

Technofact.in


आखरी श्ब्द: –

मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को हमारा Article  ATM Ka Full Form Kya Hai | ATM क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में , यह पोस्ट पसंद आया होगा,

दोस्तों अगर इस Article के बारे में आपका कोई सवाल है तो हमें जरूर बताएं और अगर आप हमसे कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट भी करें।

अगर आपने हमारे लेख ATM Ka Full Form Kya Hai | ATM क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में, को पूरा पढ़ लिया होगा तो अब तक आपको यह सारी जानकारी मिल गई होगी और आपको अपने प्रश्न का उत्तर भी मिल गया होगा, जिसे खोजते हुए आप हमारे ब्लॉग पर आए।


 ! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

share this post

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here