BSE Kya Hai In Hindi और इसमें Sensex क्या है। BSE In Hindi

Bombay Stock Exchange, BSE Kya Hai In Hindi : आज के इस लेख में हम भारत के सबसे पुराने Stock Exchange Bombay Stock Exchange के बारे में बात करेंगे। भारतीय शेयर बाजार में BSE की भूमिका महत्वपूर्ण है। BSE एक शेयर बाजार है जहां देश भर के प्रमुख बाजारों के आर्थिक विवरण की जानकारी दी जाती है।

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि BSE Kya Hai In Hindi, Bombay Stock Exchange हिंदी में, BSE की स्थापना कब हुई और BSE Sensex क्या है। अगर आप भी शेयर बाजार में रुचि रखते हैं, तो आप इस लेख को जरूर पढ़ें, इससे शेयर बाजार के बारे में आपकी जानकारी बढ़ेगी।

तो चलिए बिना समय गवाए आज का लेख शुरू करते हैं – Bombay Stock Exchange क्या है ? BSE Kya Hai In Hindi

BSE क्या है ? (BSE Kya Hai In Hindi)

BSE यानी Bombay Stock Exchange भारत में एक Stock Exchange है, जहां निवेशक या व्यापारी किसी भी शेयर, बॉन्ड और सरकारी प्रतिभूतियों को खरीदते और बेचते हैं।

BSE न केवल भारत में बल्कि एशिया में भी सबसे पुराना Stock Exchange है। जिनके पास Stock Exchange में 140 से अधिक वर्षों का अनुभव है। यह दुनिया का 10वां सबसे बड़ा Stock Exchange है। BSE में 5500 से ज्यादा कंपनियां रजिस्टर्ड हैं।

भारत के अंतरराष्ट्रीय वित्तीय बाजार को दुनिया भर के बाजारों में योग्य स्थान दिलाने में BSE का महत्वपूर्ण योगदान है। BSE ने भारतीय पूंजी बाजारों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

BSE का बेंचमार्क इंडेक्स Sensex (Sensex) है। Sensex के भीतर BSE में पंजीकृत 30 कंपनियों को रखा जाता है और BSE का प्रदर्शन उनके प्रदर्शन के आधार पर निर्धारित किया जाता है।

BSE का पूरा नाम (हिंदी में BSE फुल फॉर्म)

BSE का पूरा नाम Bombay Stock Exchange ऑफ इंडिया लिमिटेड है, जिसे हिंदी में Bombay Stock Exchange ऑफ इंडिया लिमिटेड कहा जाता है।

Bombay Stock Exchange (BSE) के बारे में

मुख्य बिंदु विवरण
BSE का पूरा नाम Bombay Stock Exchange 
स्थान दलाल स्ट्रीट मुंबई, महाराष्ट्रा 
स्थापना वर्ष  1875 में 
सूचकांक (Benchmark Index) Sensex 
वर्तमान चेयरमैन  विक्रमजीत सेन 
मुद्रा  भारतीय रुपया (INR)

Bombay Stock Exchange इन हिंदी

BSE का इतिहास

BSC की स्थापना 1875 में भारत की वित्तीय राजधानी मुंबई में हुई थी। कुछ लोग शेयर खरीदने और बेचने के लिए मुंबई में एक बरगद के पेड़ के नीचे इकट्ठा होते थे। धीरे-धीरे लोगों की संख्या बढ़ने लगी, तब शेयरों के लेन-देन के लिए एक नया स्थान मिला, जो बाद में दलाल स्ट्रीट के नाम से प्रसिद्ध हुआ। आज इसी दलाल गली में BSE का टावर है।

BSE की स्थापना प्रेमचंद रॉयचंद जी ने 300 लोगों के साथ मिलकर की थी। शुरुआत में BSE का नाम The Native Stock Broker Association था, जिसे बाद में बदलकर Bombay Stock Exchange कर दिया गया।

1992 से पहले, शेयरों का लेन-देन दस्तावेजों के माध्यम से किया जाता था, जिसमें शेयरों के आदान-प्रदान में लगने वाला समय बहुत अधिक था क्योंकि दस्तावेजों को निवेशकों तक पहुंचने में लगभग 5-6 महीने लगते थे। और शेयर बाजार में घोटाले भी बढ़ने लगे।

शेयर बाजारों में बढ़ते घोटालों को देखते हुए भारत सरकार ने 1992 में Sebi नामक एक संस्था की स्थापना की, जिसका उद्देश्य शेयर बाजार को नियंत्रित करना और निवेशकों के हितों की रक्षा करना था।

Sebi ने अमेरिकी बाजारों की तर्ज पर शेयर बाजार के लिए नियम बनाए थे, जिसमें शेयर लेनदेन के सभी खातों को कंप्यूटर में रखना होता था। लेकिन BSE ने Sebi के नियमों का पालन करने से इनकार कर दिया, इसलिए सरकार ने 1992 में NSE (National Stock Exchange) नाम से एक और Stock Exchange बनाया।

कम्प्यूटरीकृत Stock Exchange के प्रति निवेशकों के बढ़ते आकर्षण को देखते हुए, BSE ने 1995 में खुद को Sebi में सूचीबद्ध कर लिया। और BSE भी कम्प्यूटरीकृत Stock Exchange बन गया। तब से BSE Sebi के नियमों के तहत ही काम करता है।

Sensex क्या है?

Sensex BSE का बेंचमार्क इंडेक्स है। BSE Sensex की शुरुआत 1986 में हुई थी। BSE में सूचीबद्ध शीर्ष 30 कंपनियां Sensex में शामिल हैं।

अगर Sensex में शामिल 30 कंपनियों ने अच्छा प्रदर्शन किया यानी Sensex में उछाल आया तो इसका मतलब है कि BSE में लिस्टेड कंपनियों के शेयर भाव बढ़े हैं और BSE के निवेशकों को फायदा हुआ है।

अगर Sensex में शामिल 30 कंपनियों के प्रदर्शन में गिरावट है, तो इसका मतलब है कि BSE में सूचीबद्ध कंपनियों के शेयरों की कीमतों में गिरावट आई है।

इन्हें भी पढ़ें :- 

BSE से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q. BSE का फुल फॉर्म क्या है?

BSE का पूरा नाम Bombay Stock Exchange है।

Q. BSE की स्थापना कब हुई थी?

BSE की स्थापना 1874 में मुंबई में हुई थी।

Q. BSE की स्थापना किसने की?

BSE की स्थापना प्रेमचंद रॉयचंद ने 300 लोगों के साथ मिलकर की थी।

Q. BSE का इंडेक्स क्या है?

BSE का सूचकांक Sensex है, जिसमें BSE में सूचीबद्ध 30 कंपनियां शामिल हैं।

Q. BSE में कितनी कंपनियां पंजीकृत हैं?

मौजूदा समय में BSE में 5500 से ज्यादा कंपनियां लिस्टेड हैं।

Technofact Subscribe

Conclusion :- BSE Kya Hai In Hindi ?

भारतीय शेयर बाजार में BSE की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि भारत में Stock Exchange की शुरुआत BSE से ही हुई थी और BSE ने दुनिया भर में भारत के अंतरराष्ट्रीय वित्तीय बाजार को मान्यता देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

इस लेख को पढ़ने के बाद आपको BSE क्या है इन हिंदी के बारे में उचित और सटीक जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको यह लेख पसंद आया है, तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, ट्विटर आदि पर साझा करें।

Spread the love

Leave a Comment