Dividend Kya Hai In Hindi | प्रकार और कैसे काम करता है ? 2023

Dividend Kya Hai In Hindi: शेयर बाजार से पैसे कमाने के मुख्य रूप से दो तरीके हैं, एक तो शेयर खरीदकर और बेचकर और दूसरा Dividend, जिसके बारे में बहुत कम निवेशक जानते हैं। अगर आप भी शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो आपको Dividend के बारे में हर एक जानकारी पता होनी चाहिए। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कई अनुभवी निवेशक Dividend के जरिए हर महीने लाखों रुपये कमाते हैं.

आज के इस Article में हमने आपको Dividend क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी है, इस Article में हमने Dividend से जुड़े हर टॉपिक को कवर किया है जो आपके लिए महत्वपूर्ण है और हमें पूरी उम्मीद है कि अगर आप इस Article को अंत तक पढ़ेंगे तो आपको इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी। Dividend के बारे में जानने के लिए किसी अन्य ब्लॉग पर जाएं।

तो चलिए बिना समय गवाए आज का लेख शुरू करते हैं और विस्तार से जानते हैं कि Dividend Kya Hai In Hindi।

Dividend Kya Hai In Hindi ? (What is Dividend In Hindi)

Dividend, जिसे हिंदी में Dividend कहते हैं, कंपनियों द्वारा अपने शेयर धारकों को दिए जाने वाले लाभ या लाभ का एक हिस्सा होता है। अर्थात जब कंपनियां लाभ का कुछ प्रतिशत अपने अंशधारकों को देती हैं तो उसे Dividend या Dividend कहते हैं। Dividend की दर कंपनी के प्रबंधन द्वारा तय की जाती है।

कंपनी शेयरधारकों को कंपनी में निवेश करने और कंपनी में विश्वास जताने के पुरस्कार के रूप में Dividend देती है। Dividend शेयर के एक निश्चित मूल्य पर दिया जाता है। कंपनियां अपने शुद्ध लाभ में से Dividend वितरित करती हैं। कंपनी जो मुनाफा कमाती है उसमें से सारे खर्चे, टैक्स, ब्याज आदि घटाने के बाद नेट प्रॉफिट बचता है।

कंपनियां प्रति शेयर Dividend की राशि देती हैं। उदाहरण के लिए, आपके पास एक्स कंपनी के 100 शेयर हैं और उस एक्स कंपनी ने 10 रुपये प्रति शेयर का Dividend घोषित किया है, तो आपको Dividend के रूप में 100*10 = 1000 रुपये मिलेंगे। निवेशक शेयर खरीदने और बेचने के अलावा Dividend से भी अच्छी कमाई करते हैं।

सीधे शब्दों में कहें तो कंपनी के शुद्ध लाभ से शेयरधारकों को मिलने वाली राशि को Dividend कहा जाता है।

Dividend कैसे काम करता है ?

  • जब शेयर बाजार में सूचीबद्ध कंपनियां अच्छा कारोबार करके अच्छा शुद्ध लाभ या शुद्ध लाभ कमाती हैं, तो कंपनी का प्रबंधन तय करता है कि लाभ को फिर से कंपनी में निवेश किया जाए या लाभ को शेयर धारकों में वितरित किया जाए।
  • जब कंपनी का प्रबंधन Dividend वितरित करने के अंतिम निर्णय पर पहुंचता है, तो कंपनी का निदेशक मंडल Dividend वितरण की घोषणा करता है,
  • जिसमें Dividend कब दिया जाएगा, प्रति शेयर Dividend और रिकॉर्ड डेट डिक्लेयर द्वारा घोषित किया जाता है।
  • अंत में, Dividend निर्दिष्ट तिथि पर शेयरधारकों को वितरित किया जाता है।

Dividend के प्रकार

कंपनियां मुख्य रूप से शेयरधारकों को 6 तरह के Dividend देती हैं।

  • Cash Dividend (नकद लाभांश)
  • Stock Dividend (स्कंध लाभांश)
  • Asset Dividend (सम्पति लाभांश)
  • Scrip Dividend (स्क्रिप डिविडेंड)
  • Liquidating Dividend (परिसमापन लाभांश)
  • Special Dividend (विशेष लाभ)

आइए अब इन सभी 6 प्रकार के Dividend के बारे में एक-एक करके जानते हैं।

#1 – Cash Dividend (नकद लाभांश)

जैसा कि नाम से पता चलता है, इस प्रकार के Dividend का भुगतान नकद में किया जाता है। कंपनियां Dividend की रकम सीधे शेयरहोल्डर्स के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करती हैं। कई बार यह चेक में भी दिया जाता है। नकद Dividend सबसे लोकप्रिय Dividend है।

#2 – Stock Dividend (स्कंध लाभांश)

स्टॉक Dividend में कंपनियां नकद के बदले शेयरधारकों को कंपनी के शेयर भी दे सकती हैं। शेयर धारकों के पास यह विकल्प होता है कि वे किस प्रकार का Dividend चाहते हैं।

#3 – Asset Dividend (सम्पति लाभांश)

जब कंपनी शेयरधारकों को Dividend के रूप में किसी भी प्रकार की चल या अचल संपत्ति या गैर-मौद्रिक संपत्ति का भुगतान करती है, तो इसे एसेट Dividend कहा जाता है।

#4 – Scrip Dividend (स्क्रिप लाभांश)

स्क्रिप Dividend पिछले तीन Dividend से बहुत अलग है। जब कंपनी के पास Dividend देने के लिए पर्याप्त फंड नहीं होता है तो कंपनियां स्क्रिप Dividend जारी करती हैं। स्क्रिप Dividend कंपनी द्वारा शेयरधारकों को दी जाने वाली गारंटी है कि वे भविष्य में Dividend का भुगतान करेंगे।

#5 – Liquidating Dividend (परिसमापन लाभांश)

जब कोई कंपनी अपना व्यवसाय बंद कर रही होती है, तो वह अपने शेयरधारकों को लिक्विडेटिंग Dividend का भुगतान करती है। यह कंपनी द्वारा शेयरधारकों को दिया गया अंतिम Dividend है।

#6 – Special Dividend (विशेष लाभांश)

जब कंपनी अपनी Dividend Policy के अलावा Dividend का भुगतान करती है तो इस प्रकार के Dividend को विशेष Dividend कहा जाता है। यह Dividend सामान्य Dividend से अधिक है। जब कंपनियाँ अधिक लाभ कमाती हैं, तो वे इस प्रकार के Dividend का भुगतान करती हैं।

Dividend नियम

अगर आप एक निवेशक हैं तो आपको Dividend के नियमों के बारे में जानना जरूरी है।

  • किसी भी कंपनी के लिए शेयरधारकों को Dividend देना अनिवार्य नहीं है।
  • Dividend देने से संबंधित सभी अधिकार कंपनी के निदेशक मंडल के पास हैं।
  • अगर कोई कंपनी अपने शेयरधारकों को हर बार Dividend दे रही है तो यह जरूरी नहीं है कि वह भविष्य में भी अपने शेयरधारकों को Dividend देगी।
  • कंपनी हमेशा अंकित मूल्य पर Dividend देती है न कि शेयर की कीमत पर। जैसे किसी कंपनी के शेयर की कीमत 100 रुपये है और अंकित मूल्य 10 रुपये है। अगर कंपनी 100 प्रतिशत Dividend घोषित करती है, तो इसका मतलब है कि कंपनी Dividend के रूप में 10 रुपये प्रति शेयर का भुगतान करेगी।

Dividend Policy क्या है?

Dividend की दर निर्धारित करने के लिए जिन सिद्धांतों या नियमों का पालन किया जाता है, उन्हें Dividend Policy कहा जाता है। हर कंपनी की अपनी अलग Dividend पॉलिसी होती है और जब भी कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स Dividend बांटते हैं तो वे उसे कंपनी की Dividend पॉलिसी के तहत बांटते हैं।

Dividend की गणना कैसे की जाती है (हिंदी में Dividend की गणना)

शेयर बाजार में सूचीबद्ध सभी कंपनियों का एक अंकित मूल्य होता है। इस अंकित मूल्य के आधार पर कंपनियां शेयरधारकों को Dividend वितरित करती हैं। Dividend की गणना कंपनी के मौजूदा बाजार मूल्य से संबंधित नहीं है।

उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि SBI के एक शेयर की कीमत 1000 रुपये चल रही है और इसका अंकित मूल्य 100 रुपये है। अब SBI ने 100 प्रतिशत Dividend देने की घोषणा की है, तो इसका मतलब है कि SBI का प्रति शेयर Dividend 100 रुपये है। इसी तरह, यदि SBI 50 प्रतिशत Dividend घोषित करता है, तो SBI का प्रति शेयर Dividend 50 रुपये है।

अगर आपके पास SBI के 10 शेयर हैं तो आपको 100*100 = 1000 रुपए 100 फीसदी Dividend मिलेगा। तो इस प्रकार Dividend की गणना की जाती है।

Dividend कैसे प्राप्त करें ?

लाभ कमाने के मामले में, कंपनी शेयरधारकों को Dividend घोषित करती है। Dividend शेयरधारक के डीमैट खाते से जुड़े बैंक खाते में जमा किया जाता है। जैसे आपका डीमैट खाता अपस्टॉक्स में है और आपका पीएनबी बैंक खाता अपस्टॉक्स में जुड़ा हुआ है। तो आपको जो Dividend मिलेगा वो आपके पीएनबी बैंक अकाउंट में आएगा।

Dividend से संबंधित महत्वपूर्ण तिथियां

Dividend से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण तारीखें हैं जिनके बारे में सभी शेयर धारकों को पता होना चाहिए।

  • Dividend Declaration Date – यह वह तिथि है जब कंपनी का निदेशक मंडल शेयरधारकों को Dividend घोषित करता है।
  • Record Date – प्रत्येक कंपनी के पास शेयरधारकों की एक रिकॉर्ड बुक होती है जिसमें सभी शेयरधारकों के नाम होते हैं। यह रिकॉर्ड रोज बदलता है, इसलिए रिकॉर्ड तिथि निर्धारित की जाती है। रिकॉर्ड तिथि तक केवल उन्हीं शेयरधारकों को Dividend मिलता है जिनका नाम रिकॉर्ड बुक में होता है। रिकॉर्ड तिथि भी उसी दिन घोषित की जाती है जिस दिन Dividend घोषणा तिथि होती है।
  • Ex Dividend Date – यह वह तिथि है जब तक शेयर धारक शेयर खरीदकर Dividend प्राप्त कर सकते हैं। यह तिथि आमतौर पर रिकॉर्ड तिथि से 2 दिन पहले तक होती है। यदि कोई निवेशक एक्स Dividend डेट के बाद शेयर खरीदता है तो उसे Dividend नहीं मिलता है। एक्स Dividend तिथियां स्टॉक एक्सचेंज द्वारा तय की जाती हैं ताकि रिकॉर्ड तिथि तक सभी सही शेयरधारकों के नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज किए जा सकें।
  • Dividend Payment Date – जिस दिन शेयरधारकों को Dividend का भुगतान किया जाता है, उसे भुगतान तिथि कहा जाता है।

Dividend Yield क्या है ?

Dividend Yield एक वित्तीय अनुपात है जो Dividend का भुगतान करने के लिए स्टॉक की क्षमता को दर्शाता है। Dividend Yield से निवेशक को पता चलता है कि शेयर के मौजूदा बाजार मूल्य पर किए गए निवेश का कितना प्रतिशत Dividend के रूप में निवेशक को मिलेगा। शेयर की कीमत के आधार पर Dividend Yield घटती रहती है।

Dividend Yield = (Dividends Value ÷ Current Market Price) X 100

आइए एक उदाहरण से समझते हैं, मान लीजिए कि एक कंपनी X है जिसके शेयर की कीमत 500 रुपये है और इसकी Face Value 50 रुपये है। कंपनी ने 100 प्रतिशत Dividend घोषित किया है (यानी कंपनी Dividend के रूप में 50 रुपये प्रति शेयर का भुगतान करेगी)। अब बात करें Dividend Yield की तो ये है फॉर्मूला।

Dividend Yield = (50/500)*100 = 10%

सबसे ज्यादा Dividend देने वाली कंपनी

उच्चतम Dividend बोनस देने वाली कुछ प्रमुख कंपनियां निम्नलिखित हैं।

  • कोल इंडिया
  • वेदांत लिमिटेड
  • बीपीसीएल
  • आईओसी,
  • एनएमडीसी,
  • सोनाटा सॉफ्टवेयर

नोट – हम यहां इन कंपनियों में निवेश करने की सलाह नहीं देते हैं, यह आपको केवल जानकारी के उद्देश्य से बताया गया है। किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

इन्हें भी पढ़ें :-

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: (FAQ) Dividend क्या है?

Q. शेयर बाजार में Dividend क्या है?

जब कंपनियाँ अपने शुद्ध लाभ का कुछ प्रतिशत अंशधारियों को देती हैं तो उसे Dividend कहते हैं।

Q. Dividend कब प्राप्त होता है?

Dividend का भुगतान तभी किया जाता है जब कंपनी को लाभ होता है।

Q. Dividend का हिंदी अर्थ क्या है?

Dividend को हिंदी में Dividend कहते हैं यानी लाभ का एक हिस्सा या हिस्सा।

Q. Dividend Policy क्या है?

जिन नियमों के तहत कंपनी शेयरधारकों को Dividend वितरित करती है, उन्हें Dividend Policy कहा जाता है।

Technofact Subscribe

Conclusion :- Dividend Kya Hai In Hindi 

इस ब्लॉग पोस्ट में हमने आपको Dividend के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है और हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपके दिमाग से Dividend से जुड़े सारे संदेह दूर हो गए होंगे। Dividend शेयर मार्केट से पैसिव इनकम करने का एक अच्छा तरीका है, आप शेयर मार्केट में निवेश करके भी Dividend से अच्छी कमाई कर सकते हैं।

तो दोस्तों इस Article में बस इतना ही, उम्मीद है आपको हमारे दूसरे आर्टिकल्स की तरह इस Article से भी कुछ सीखने को मिला होगा। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने अन्य दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें और उन्हें भी Dividend के बारे में यह जानकारी बताएं।

Spread the love

Leave a Comment