ECG का फुल फॉर्म क्या है | ECG क्या है?

ECG Ka Full Form Kya Hai | ECG क्या है?

इस लेख में आप ECG Ka Full Form Kya Hai, ECG क्या है, ECG Ka Full Form क्या है, ECG का क्या मतलब है, ECG का फुल फॉर्म क्या है, ECG का हिंदी में क्या मतलब है, आदि जैसे सवालों के जवाब पा सकते हैं।

क्या आप इस ब्लॉग पर ECG से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी के लिए आए हैं, अगर आप ECG से जुड़े किसी भी तरह के सवाल के जवाब के लिए इस ब्लॉग पर आए हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं।

आज हम इस लेख में ECG से जुड़ी हर तरह की जानकारी देने जा रहे हैं, बस इस लेख को पूरा पढ़ें। मैं वादा करता हूं कि इस लेख को पढ़कर आपके मन में ECG से जुड़े तमाम सवाल आ जाएंगे।

तो चलिए फिर से शुरू करते हैं और इसके बारे में Detail में जानकारी प्राप्त करते हैं।


यह भी पढ़ें :- IB Full Form In Hindi | IB का Full Form क्या है ?


1. ECG Ka Full Form Kya Hai :-

ECG का फुल फॉर्म “Electrocardiogram” है, इसका हिंदी उच्चारण ‘इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम’ है।

हम इसे हिंदी भाषा में “इलेक्ट्रोमैकेनिकल द्वारा दिल की धड़कन का आरेखण” भी कहते हैं।


यह भी पढ़ें :- JEE का Full Form क्या है? | JEE क्या है?


2. ECG क्या हैं:-

ECG एक प्रकार का परीक्षण है जो मशीनों द्वारा हृदय का परीक्षण करता है, ECG परीक्षण द्वारा हृदय की विद्युत गतिविधि का पता लगाया जाता है जैसे हृदय दर्द, उच्च रक्तचाप, श्वसन रोग, घबराहट और बेहोशी आदि। इसके अलावा, कई अन्य हृदय से संबंधित बीमारियों का पता लगाया जाता है।

ECG एक ऐसा परीक्षण है जिसका उपयोग हृदय से संबंधित कई प्रकार की बीमारियों का पता लगाने के लिए किया जा सकता है।

ECG एक बहुत अच्छा परीक्षण है, इसकी मदद से विभिन्न प्रकार के हृदय संबंधी रोगों का पता लगाया जा सकता है और उसका इलाज किया जा सकता है।

ECG Test से आपको दिल से जुड़ी बीमारी के बारे में पता चल जाता है और आप उसका इलाज करके उस बीमारी को ठीक कर सकते हैं।

दिल की सेहत के लिए आपको बीच-बीच में ECG Test करवाना चाहिए, जिससे आपको पता चलेगा कि आपके शरीर में दिल से जुड़ी कोई बीमारी नहीं है और अगर कोई बीमारी निकल जाए तो उसका इलाज करके आप उस बीमारी को ठीक कर सकते हैं।


यह भी पढ़ें :- LPG का Full Form क्या है & LPG क्या हैं?


3. ECG Test से क्या जानकारी मिलती है :-

ECG Test की मदद से डॉक्टर को काफी जानकारी मिलती है ECG Test की मदद से जो जानकारी मिलती है वो इस प्रकार है-

ECG Test की मदद से डॉक्टरों को मरीज के दिल की विद्युतीय गतिविधियों की जानकारी मिलती है।

ECG Test की मदद से यह भी पता लगाया जाता है कि मरीज जो दवा ले रहा है उसका क्या असर और साइड इफेक्ट है, यानी मरीज को किस तरह से दवाएं दी जा रही हैं, उनका क्या असर हो रहा है और उनका शरीर पर क्या असर हो रहा है ।

  • दिल में दर्द होने पर भी ECG Test किया जाता है, ताकि पता लगाया जा सके कि क्या यह हार्ट अटैक का लक्षण है।
  • ECG परीक्षण यह भी निर्धारित करता है कि दिल का दौरा हृदय की मांसपेशियों को प्रभावित कर रहा है या नहीं।
  • ECG Test के जरिए मरीज के दिल की कीमत का पता लगाया जाता है कि कहीं कोई खराबी तो नहीं है।

इन सबके अलावा ECG Test से हमें और भी कई तरह की जानकारी मिलती है।


यह भी पढ़ें :- NCB का Full Form क्या है & NCB क्या है?


4. ECG के प्रकार:-

ECG मुख्य तीन प्रकार के होते हैं, आइए इनके बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करते हैं-

  • आराम करने वाला ECG
  • चल ECG
  • तनाव या व्यायाम ECG

#1 आराम करने वाला ECG:-

आराम करने वाला ECG तब किया जाता है जब रोगी आरामदायक स्थिति में बिस्तर पर लेट जाता है।

#2 एम्बुलेटरी ECG:-

इसमें रोगी को कमर पर एक छोटी सी मशीन पहननी पड़ती है। इसमें मरीज अपने घर जा सकता है और अपना छोटा-मोटा काम भी कर सकता है, इससे एक या अधिक दिनों तक दिल की निगरानी करने में मदद मिलती है।

#3 तनाव या व्यायाम ECG:-

तनाव या व्यायाम ECG परीक्षण तब किया जाता है जब आप ट्रेडमिल या व्यायाम बाइक का उपयोग कर रहे हों।


यह भी पढ़ें :- NIOS का Full Form क्या है & NIOS क्या है?


5. ECG क्यों किया जाता है:-

ECG Test करवाने से हमें दिल से जुड़ी कई तरह की बीमारियों की जानकारी मिलती है, इसलिए ECG Test किया जाता है।

ECG Test के जरिए हमें दिल से जुड़ी हर तरह की जानकारी मिलती है और इसके अलावा और भी कई जानकारियां मिलती हैं, ECG Test से हमें जो मुख्य जानकारी मिलती है, वह नीचे दी गई है।

  • हृदय कक्षों की दीवारों की मोटाई का पता लगाने के लिए ECG परीक्षण किया जाता है।
  • हृदय का एक और इज़ाफ़ा, इसके परीक्षण के लिए ECG परीक्षण भी किया जाता है।
  • असामान्य हृदय ताल के लिए।
  • अतीत में दिल का दौरा पड़ने की स्थिति में।
  • हृदय दर्द के कारण कोलेस्ट्रॉल जमा होना।
  • मधुमेह और उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोग।

यह भी पढ़ें :- OPD का Full Form क्या है | OPD क्या है?


#1 ECG से लाभ:-

ECG Test के फायदे इस प्रकार हैं-

इस Test की मदद से हम दिल से जुड़ी हर तरह की बीमारियों का पता लगा सकते हैं।

  • ECG परीक्षण से हम प्रति मिनट दिल की धड़कन की दर का भी पता लगा सकते हैं।
  • ECG परीक्षण हमारे दिल की विद्युत पहुंच को निर्धारित करने और विभिन्न प्रकार की हृदय संबंधी समस्याओं का निदान करने में भी हमारी मदद करता है।

इसकी मदद से आप आसानी से चेक कर सकते हैं कि आपका दिल स्वस्थ है या नहीं, अगर आपके दिल में कोई समस्या है तो आप इस Test से इसका पता लगा सकते हैं।


यह भी पढ़ें :- PG का Full Form क्या है | PG क्या है?


#2 ECG से नुकसान:-

आमतौर पर ECG से हमारे शरीर को कोई नुकसान नहीं होता है, लेकिन इलेक्ट्रोड को दिन में शरीर के अंगों पर लगाया जाता है, इसे हटाने के बाद उन जगहों पर सूजन आ जाती है और दाने जैसा कुछ होता है।


यह भी पढ़ें :- CBI का Full Form क्या है & CBI क्या है?


#3 ECG Test फीस:-

बहुत से लोग हैं जो इस बात को ध्यान में रखते हैं कि ECG Test बहुत महंगा होगा और इस Test को करने में काफी पैसा लगेगा, लेकिन आपको बता दें कि ECG Test बहुत महंगा नहीं होता है, यानी यह Test पूरा करने के लिए बहुत पैसा नहीं है। ।

कुछ अस्पताल ऐसे भी हैं जहां इस Test की फीस थोड़ी ज्यादा है और कुछ अस्पतालों में यह बहुत कम है, यानी सभी अस्पतालों में इस Test के लिए अलग-अलग फीस है।

इस Test की एवरेज फीस की बात करें तो ECG Test की फीस 100 से 500 रुपये के बीच है।

औसत शुल्क – (100-500) रुपये


यह भी पढ़ें :- BCA का Full Form क्या हैं | BCA Course कैसे करें ? In 2021


6. ECG करवाने से पहले क्या न करें:-

दोस्तों अगर आप ECG करवाने जा रहे हैं तो आपको पता होना चाहिए कि आपको क्या नहीं करना है क्योंकि अगर आप कुछ गलत करते हैं तो आपका ECG Test अच्छा रिजल्ट नहीं देगा और उसमें कुछ कमियां भी होंगी।

आइए जानते हैं कि ECG करवाने से पहले हमें क्या नहीं करना चाहिए-

  • यदि आप ECG करवाने जा रहे हैं तो आपको त्वचा पर किसी भी प्रकार की क्रीम या लोशन नहीं लगाना चाहिए, अर्थात यदि आप त्वचा पर कोई चिकना पदार्थ लगाते हैं तो इलेक्ट्रोड चिपकाने में कठिनाई होती है और इलेक्ट्रोड त्वचा के संपर्क में नहीं आया होता है।
  • अगर आप ECG करवाने जा रहे हैं तो आपको ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए।
  • अगर आप ECG करवाने जा रहे हैं, तो आपको व्यायाम नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें :- AC का Full Form क्या है ? | AC और DC में अंतर Difference


7. ECG के दौरान :-

ECG Test एक ऐसा Test होता है जिसमें किसी भी तरह का दर्द नहीं होता है, इस Test में आपको बिस्तर पर लिटाया जाता है, उसके बाद आपकी छाती, पैरों और बाहों पर पैड लगाया जाता है, फिर पैड को ECG के तारों से मशीन से जोड़ा जाता है।

20 से 25 सेकेंड के अंदर ECG मशीन हमारे दिल की हरकतों को पढ़ सकती है, इन 20 से 25 मिनट में हमें बिल्कुल भी हिलना-डुलना नहीं पड़ता, इस Test के दौरान हमें किसी से बात नहीं करनी होती है।

जब यह Test पूरा हो जाता है तो डॉक्टर ECG मशीन की वायरिंग हटा देते हैं।


यह भी पढ़ें :- ATM Ka Full Form Kya Hai | ATM क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में


8. क्या ECG Test करवाने में कोई खतरा है:-

ECG Test कराने में हमें कोई दर्द नहीं होता है, यह दर्द रहित Test होता है। ईसीजी टेस्ट हमारे दिल की गतिविधियों को मापता है।

इस परीक्षण में कोई जोखिम नहीं होता है या यह एक जोखिम मुक्त परीक्षण है।


यह भी पढ़ें :- MMS Ka Full Form Kya Hai | MMS का फुल फॉर्म क्या है?


आज आपने क्या सीखा :-

आज इस लेख में हमने ECG से संबंधित बहुत सारी जानकारी प्राप्त की है, इस लेख में हमने ECG का पूर्ण रूप, ECG क्या है, ECG के लाभ, ECG से हानि और ECG परीक्षण प्राप्त करने में होने वाली फीस और ECG से संबंधित जानकारी का भी बहुत कुछ प्राप्त किया है।

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ लिया है तो अब तक आपको ECG से जुड़ी काफी जानकारी मिल गई होगी, मुझे उम्मीद है कि आप दोस्तों को भी उस सवाल का जवाब मिल गया होगा, जिसके लिए आप हमारे ब्लॉग पर यह लेख पढ़ रहे थे। 

ecg ka full form  , ecg full form in hindi  , what is the full form of ecg  , ecg in hindi , full form of ecg  , ecg meaning in hindi  , ecg ka full form  etc.

दोस्तों आपको यह लेख ecg ka full form कैसा लगा हमें नीचे कमेंट करके बताएं और अगर आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल है तो हमें नीचे कमेंट करके बताएं।


Technofact.in


निष्कर्ष:-

इस लेख को पढ़ने के बाद यह निष्कर्ष निकलता है कि ECG एक ऐसा परीक्षण है जिसकी सहायता से हम हृदय से संबंधित किसी भी प्रकार की बीमारियों का पता लगा सकते हैं।

अगर हमारे शरीर में दिल से जुड़ी कोई समस्या है तो हम ECG की जांच कराकर इसकी जानकारी ले सकते हैं।

ECG Test बहुत ही सस्ता Test होता है इसलिए हर व्यक्ति इस Test को आसानी से कर सकता है और ECG Test से हमें कई फायदे मिलते हैं।

अगर आप हमारे ECG से जुड़े इस लेख पर हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं, या हमसे संपर्क करना चाहते हैं और हमसे बात करना चाहते हैं, तो हमें कमेंट करके बताएं, मुझे आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा।

अगर आपको यह लेख ecg ka full form पसंद आया है, तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी शेयर करें।

ऐसी ही और नई जानकारी पाने के लिए हमारे ब्लॉग TechnoFact पर विजिट करते रहें

अगर आपने हमारे लेख को पूरा पढ़ लिया होगा तो अब तक आपको यह सारी जानकारी मिल गई होगी और आपको अपने प्रश्न का उत्तर भी मिल गया होगा, जिसे खोजते हुए आप हमारे ब्लॉग पर आए।


! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

share this post

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

Previous articleIB Full Form In Hindi | IB का Full Form क्या है ?
Next articleCPR का फुल फॉर्म क्या है – CPR क्या है?
मेरा नाम Rajat Panday है ओर TechnoFact.in मेरा ब्लॉग वैबसाइट है जहा मै हिन्दी मे इंटरनेट, मोबाइल, टेक्नालजी, टिप्स ट्रिक्स जैसी सारी जानकारी देता हु । मै कोशिश करूंगा की इस ब्लॉग के जरिये लोगो तक सही जानकारी हिन्दी भाषा मे प्राप्त हो सके । ! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here