IPO Kya Hai और कैसे खरीदें? IPO Full Form In Hindi 2023

IPO Kya Hai in Hindi: शेयर बाजार से जुड़ी बहुत सी बातों के बारे में लोगों को जानकारी नहीं होती है, उन्हीं में से एक टर्म है IPO. शेयर बाजार में सफलता पाने के लिए IPO के बारे में जानकारी होना जरूरी है। इसलिए हमने आपको इस लेख में IPO के बारे में हिंदी में बताया है।

इस लेख के माध्यम से हमने आपको IPO क्या है, IPO कितने प्रकार के होते हैं, IPO कैसे खरीदें, IPO में निवेश कैसे करें, IPO के फायदे और IPO के नुकसान की जानकारी दी है।

अगर आप भी शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं तो यह लेख आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़ें। तो चलिए बिना किसी देरी के शुरू करते हैं यह लेख – IPO Investment in Hindi।

IPO Kya Hai In Hindi (What is IPO in Hindi)

IPO का Full Form इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग है। जब भी कोई कंपनी अपने सामान्य शेयर को शेयर बाजार में सूचीबद्ध करती है और इसे पहली बार सार्वजनिक करती है, तो इसे IPO कहा जाता है। जब कंपनियां शेयर बाजार में सूचीबद्ध होती हैं, तो कोई भी निवेशक उनके शेयरों को खरीद और बेच सकता है।

दरअसल, कंपनियों को अपनी ग्रोथ बढ़ाने के लिए फंड की जरूरत होती है, तब वे अपने शेयर का कुछ फीसदी आम जनता को ऑफर करती हैं। कंपनी शेयर से जो फंड जुटाती है, उसे कंपनी के विकास में लगाती है और निवेशक को कंपनी में कुछ प्रतिशत हिस्सेदारी मिलती है।

सीधे शब्दों में कहें तो जब कोई कंपनी पहली बार आम जनता के लिए अपने साझा शेयर जारी करती है तो उसे IPO कहते हैं। कोई भी कंपनी IPO के जरिए शेयर बाजार में लिस्टेड होती है।

IPO का पूरा नाम (IPO Full form in Hindi)

IPO का Full Form इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग होता है, जिसे हिंदी में ‘फर्स्ट पब्लिक ऑफर’ कहते हैं।

अब तक आपको थोड़ा अंदाजा हो गया होगा कि IPO क्या है, अब यह जानना भी जरूरी है कि कोई कंपनी IPO क्यों लाती है।

IPO लाने की वजह

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि कंपनियां फंड जुटाने के लिए IPO जारी करती हैं। IPO छोटी और बड़ी दोनों कंपनियों द्वारा जारी किया जाता है।

IPO का मुख्य उद्देश्य कंपनी के आवश्यक कार्यों और प्रगति के लिए धन जुटाना है। वैसे तो कंपनियां फंड जुटाने के लिए बैंकों से कर्ज भी ले सकती हैं, लेकिन कर्ज लेने में कंपनी को एक निश्चित समय के अंतराल में कर्ज की रकम ब्याज सहित बैंक को लौटानी होती है।

लेकिन शेयर जारी करने से कंपनियों को किसी का पैसा वापस नहीं करना पड़ता है। शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद कंपनी अपने कुछ प्रतिशत शेयर आम जनता को जारी करती है, और निवेशक कंपनी के शेयर खरीदते हैं, जिससे निवेशक को कंपनी में कुछ प्रतिशत हिस्सेदारी मिलती है और कंपनी को धन प्राप्त होता है।

IPO में कंपनी और निवेशक दोनों को फायदा होता है। एक तरफ कंपनी अपने लिए फंड इकट्ठा करती है तो दूसरी तरफ निवेशक कंपनी के कुछ प्रतिशत का मालिक बन जाता है। एक कंपनी एक से अधिक बार IPO जारी कर सकती है।

IPO जारी करने के कुछ प्रमुख कारण निम्नलिखित हैं –

  • एक छोटी कंपनी अपने विकास के लिए IPO जारी करती है।
  • मध्यम और बड़ी कंपनियां अपने विस्तार के लिए IPO निकाल सकती हैं।
  • एक कंपनी कर्ज चुकाने के लिए IPO जारी करती है।
  • कंपनियां नए उत्पाद लॉन्च करने में IPO भी निकालती हैं।

IPO के प्रकार

IPO मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं –

  • निश्चित मूल्य की पेशकश
  • बुक बिल्डिंग पेशकश

#1 – निश्चित मूल्य की पेशकश (निश्चित मूल्य की पेशकश)

जैसा कि नाम से पता चलता है, निश्चित मूल्य के तहत, सार्वजनिक होने वाली कंपनी एक निश्चित मूल्य निर्धारित करती है जिस पर उसके शेयर निवेशकों को पेश किए जाते हैं। कंपनी के शेयर बाजार में आने से पहले ही निवेशकों को शेयर की कीमत पता चल जाती है। क्योंकि फिक्स्ड प्राइस IPO में कंपनी निवेश बैंक के साथ मिलकर शेयर की कीमत तय करती है। इस प्रकार के IPO में भाग लेने वाले निवेशक को आवेदन करते समय शेयर की पूरी कीमत चुकानी होती है।

#2 – बुक बिल्डिंग ऑफरिंग (बुक बिल्डिंग ऑफर)

बुक बिल्डिंग IPO में कंपनियां निवेश बैंक के साथ मिलकर प्राइस बैंड तय करती हैं। आम तौर पर कंपनियां बुक बिल्डिंग IPO के तहत निवेशकों को 20 फीसदी तक की छूट देती हैं। जब कीमत तय होती है तो IPO जारी किया जाता है।

अंतिम कीमत तय होने से पहले निवेशक शेयरों पर बोली लगाते हैं। निवेशकों को यह निर्दिष्ट करना होगा कि वे कितना शेयर खरीदना चाहते हैं और कितना भुगतान करने के लिए तैयार हैं।

 बुक बिल्डिंग IPO में प्रति शेयर की कोई निश्चित कीमत नहीं होती है। जो शेयर सबसे कम कीमत का होता है उसे फ्लोर प्राइस कहा जाता है और जो शेयर सबसे ज्यादा कीमत का होता है उसे कैप प्राइस कहा जाता है।

IPO से पैसे कैसे कमाए

IPO से पैसा कमाने के लिए आपको IPO में निवेश करना होगा। IPO में निवेश करने का मतलब है कि आपकी किस्मत कंपनी से जुड़ी हुई है, जिस कंपनी में आपने IPO में निवेश किया है, अगर वह बढ़ती है, तो आपको भी फायदा होगा, लेकिन अगर कंपनी को नुकसान होता है, तो आपका निवेश किया हुआ पैसा भी डूब सकता है। हुह।

IPO में आवेदन करने के लिए आवेदन

IPO में आवेदन करने के लिए बेस्ट IPO ऐप की लिस्ट दी गई है –

IPO में आवेदन करने वाली ऐप का नाम IPO App डाउनलोड लिंक
Upstox App (अपस्टॉक्स ट्रेडिंग एप्प) Upstox App Download
Groww App (ग्रो इन्वेस्टमेंट एप्प) Groww App Download
Angel One By Angel Broking (एंजेल ब्रोकिंग) Angel Broking App Download
Zerodha Trading App (ज़ेरोधा किट ट्रेडिंग एप्प) Zerodha Download

IPO में निवेश के बारे में और जानकारी हमने आपको इस लेख में दी है –

IPO में निवेश कैसे करें (How to Invest in IPO in Hindi)

जब कोई भी कंपनी IPO जारी करती है तो वह निवेशकों को IPO में निवेश करने के लिए 3 से 10 दिन का समय देती है। इस निश्चित समय अंतराल में निवेशक कंपनी के IPO को खरीद सकता है। कोई कंपनी अपना IPO 3 दिन के लिए ही खोलती है तो कोई अपना IPO निवेशकों के लिए 3 दिन से ज्यादा के लिए खोलती है।

IPO में निवेश करने के लिए आप IPO जारी करने वाली कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर निवेश कर सकते हैं या आप किसी पंजीकृत Stock Broker के माध्यम से भी IPO खरीद सकते हैं।

अगर कंपनी ने फिक्स प्राइस IPO जारी किया है तो आपको IPO को फिक्स प्राइस पर ही खरीदना होगा। और अगर IPO बुक बिल्डिंग है तो आपको IPO में बोली लगानी होगी। अगर आपने IPO में निवेश किया है तो शेयर आवंटन IPO बंद होने के बाद ही होता है।

IPO में निवेश करने के लिए आपका ब्रोकर सबसे अच्छा होना चाहिए, शुरुआत में आप ब्रोकर के पास ही IPO में निवेश करें। आप जिस कंपनी के IPO में निवेश करना चाहते हैं, उसके साथ 2-3 अन्य कंपनियों की तुलना करें, कुछ दिनों तक कंपनी की प्रगति देखने के बाद ही IPO में निवेश करें।

IPO में निवेश करने के लिए अपस्टॉक्स ऐप और ग्रो ऐप बहुत अच्छे हैं, आप इन एप्लिकेशन के जरिए IPO में निवेश कर सकते हैं।

IPO कैसे खरीदें ?

IPO खरीदने के लिए निम्नलिखित चरणों का क्रमिक तरीके से पालन करें –

  • सबसे पहले किसी भी डिस्काउंट ब्रोकरेज से अपना डीमैट खाता खोलें। आप अपस्टॉक्स और ग्रो ऐप के साथ अपना डीमैट खाता खोल सकते हैं।
  • इसके बाद एप्लीकेशन के IPO सेक्शन में जाएं।
  • यहां आपको कंपनी के IPO की लिस्ट देखने को मिलेगी।
  • IPO खरीदने के लिए आपको यूपीआई से भुगतान करना होगा। जिसके बाद कंपनी आपको IPO अलॉट कर देती है।
  • जब IPO आवंटित किया जाता है, तो आप कंपनी के उतने ही प्रतिशत शेयरधारक बन जाते हैं, जितने प्रतिशत आपके पास शेयर होते हैं।
  • अगर किसी वजह से आपको IPO अलॉट नहीं हो पाता है, तो आपका पैसा आपके बैंक खाते में ट्रांसफर कर दिया जाता है।

IPO आवंटन प्रक्रिया

जब IPO की ओपनिंग बंद हो जाती है तो कंपनियां IPO अलॉटमेंट करती हैं, इस प्रक्रिया में कंपनी सभी निवेशकों को IPO आवंटित करती है और IPO आवंटन के बाद कंपनी के शेयरों को स्टॉक मार्केट में सूचीबद्ध किया जाता है।

जब कंपनी के शेयर स्टॉक मार्केट में सूचीबद्ध होते हैं, तो उन्हें द्वितीयक बाजार में खरीदा और बेचा जा सकता है, उन्हें तब तक नहीं बेचा जा सकता जब तक शेयर बाजार में सूचीबद्ध नहीं हो जाते। लेकिन जब शेयर बाजार में सूचीबद्ध होते हैं, तो दो निवेशक शेयर बाजार के समय के अनुसार शेयरों को खरीद और बेच सकते हैं।

कई लोगों के मन में यह सवाल भी आ रहा होगा कि सेकेंडरी मार्केट क्या है तो आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि शेयर बाजार में आप दो तरह से निवेश कर सकते हैं। प्राथमिक बाजार और द्वितीयक बाजार।

प्राथमिक बाजार में आप IPO के माध्यम से निवेश कर सकते हैं और द्वितीयक बाजार में आप शेयर बाजार में सूचीबद्ध शेयरों में निवेश कर सकते हैं।

IPO में निवेश करने से पहले जान लें ये बातें

  • IPO में निवेश करना बहुत जोखिम भरा है, इसमें आपका पैसा डूब सकता है और आप रातों-रात करोड़पति भी बन सकते हैं।
  • IPO में निवेश करने के लिए आपको इसकी थोड़ी जानकारी भी होनी चाहिए। IPO में निवेश के लिए आप अपने ब्रोकर की भी मदद ले सकते हैं।
  • IPO में निवेश करने के लिए आपके पास पैन कार्ड और डीमैट खाता होना चाहिए।
  • IPO में निवेश करने के लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होती है, अगर आपके पास कम पूंजी है तो आप डिस्काउंट ब्रोकरेज से अपना डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं।
  • लालच न करें, अपनी सारी पूंजी IPO में लगाने से बचें।

Sebi क्या है (What is SEBI in Hindi)

Sebi (सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया) IPO लाने वाली कंपनियों के लिए एक सरकारी नियामक संस्था है, जो कंपनियों से नियमों का पालन करवाती है। कंपनियों को हर तरह की जानकारी सेबी को देनी होती है। IPO लाने के बाद भी सेबी कंपनी की जांच करता है कि उनके द्वारा दी गई जानकारी सही है या नहीं।

IPO के फायदे

IPO के लाभ इस प्रकार हैं –

  • IPO लाने के बाद कंपनियां अपनी ग्रोथ के लिए पर्याप्त पूंजी इकट्ठा कर लेती हैं।
  • IPO पर सेबी की नजर रहती है, इसलिए निवेशक के साथ धोखाधड़ी का खतरा नहीं रहता।
  • कम निवेश में अधिक पैसा कमा सकते हैं।
  • शुरुआती निवेशक के लिए IPO एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

IPO का नुकसान

IPO के कुछ नुकसान भी हैं जैसे –

  • IPO जोखिम भरा है।
  • कंपनी को सेबी के नियमों के तहत काम करना होता है।
  • कंपनी के लिए IPO की प्रक्रिया महंगी है।

IPO से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q. IPO क्या है?

जब कोई कंपनी पहली बार आम जनता के लिए अपने शेयर जारी करती है तो उसे IPO कहते हैं।

Q. IPO का Full Form क्या होता है?

IPO का Full Form इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग है। इसे हिन्दी में प्रथम सार्वजनिक प्रस्ताव कहते हैं।

Q. क्या IPO में निवेश करना सही है?

वैसे तो IPO को एक जोखिम भरा निवेश माना जाता है क्योंकि लोगों को कंपनी के शेयर की प्रगति से संबंधित कोई जानकारी नहीं होती है। हालांकि, जो शुरुआती निवेशक हैं, उनके लिए IPO में निवेश एक अच्छा विकल्प हो सकता है। क्योंकि शेयर बाजार में भविष्य बनाने के लिए IPO की जानकारी होना जरूरी है। शुरुआती निवेशक अपने ब्रोकर की मदद से IPO में निवेश कर सकते हैं।

Q. IPO में निवेश करने के लिए क्या जरूरी है?

IPO में निवेश करने के लिए निवेशक के पास आयकर विभाग द्वारा जारी पैन कार्ड होना चाहिए और डीमैट खाता भी होना चाहिए। तभी कोई निवेशक IPO में निवेश कर सकता है।

Q. IPO में कौन निवेश कर सकता है?

आयकर विभाग द्वारा जारी पैन कार्ड रखने वाला कोई भी वयस्क या नाबालिग व्यक्ति IPO में निवेश कर सकता है।

Technofact Subscribe

Conclusion : IPO क्या है हिंदी में

इस लेख के माध्यम से हमने आपको IPO Kya Hai In Hindi के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है ताकि आपको IPO के बारे में बेसिक जानकारी मिल सके। शेयर बाजार से पैसा कमाने के लिए IPO के बारे में जानना जरूरी है। IPO में निवेश करना जोखिम भरा है, इसलिए शुरुआत में अपने ब्रोकर की मदद से IPO में निवेश करें।

हमें उम्मीद है कि इस लेख में आपको IPO क्या है और IPO कैसे खरीदें, इस लेख के माध्यम से उपयोगी जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

Spread the love

Leave a Comment