शेयर मार्केट क्या है ? और शेयर कैसे खरीदते हैं | What is Share Market in Hindi 2022

0
Share Market Kya Hai ? और शेयर कैसे खरीदते हैं | What is Share Market in Hindi

आज के विषय What is Share Market in Hindi ( Share Market Kya Hai ) में हम शेयर बाजार के बारे में कुछ बुनियादी जानकारी लेंगे। इस दुनिया में कौन पैसा कमाना नहीं चाहता? पैसा हर इंसान की जरूरतों को पूरा करने के लिए बहुत जरूरी है।

अगर हमारे पास पैसा है तो ही हम अपने सपने को पूरा कर सकते हैं और बिना पैसे के हमारा सपना सपना बनकर रह जाएगा। इसलिए दुनिया में हर कोई पैसे को ज्यादा अहमियत देता है क्योंकि जब आपके पास पैसा होता है तभी आपके पास इज्जत, दौलत, घर, रिश्तेदार, दोस्त, ये सब चीजें होती हैं।

दुनिया में पैसे कमाने के कई तरीके हैं, कुछ लोग नौकरी करके पैसा कमाते हैं, कुछ लोग व्यापार करके पैसा कमाते हैं और कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अपना पैसा दांव पर लगाकर बहुत पैसा कमाते हैं।

लेकिन ये लोग अपना पैसा कहां दांव पर लगाते हैं, ऐसी कौन सी जगह है जहां लोग अपना पैसा दांव पर लगाने के बाद भी मुनाफा कमाते हैं? वह जगह है शेयर बाजार यानी शेयर बाजार। Share Bazar के बारे में हिंदी में तो सभी ने सुना होगा लेकिन वहां क्या होता है इसकी जानकारी सभी को नहीं होती है। इसलिए आज मैं आपको शेयर बाजार क्या है और शेयर बाजार की बुनियादी जानकारी हिंदी में बताने जा रहा हूं।

अगर आपने खबरें देखी होंगी तो कई बार आपने सुना होगा कि Share Market क्या है (What is Share Market in Hindi) लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि शेयर कैसे खरीदें और भारत में कितने शेयर बाजार हैं।

आज हर कोई पैसा कमाने के तरीके ढूंढता है। जीवन में पैसे की अहमियत कौन नहीं जानता।

धन के बिना हमें एक अच्छा जीवन नहीं मिल सकता है, साथ ही इसके बिना हम अपने आवश्यक कार्य भी पूर्ण नहीं कर सकते हैं। वैसे तो पैसे कमाने के कई तरीके हैं।

बचपन से ही वह एक अच्छा करियर बनाने के लिए पढ़ाई करता है। उसके बाद कुछ लोग नौकरी करते हैं। कुछ लोग अपने जीवन में पैसा कमाने के लिए व्यापार का रास्ता अपनाते हैं।

इस पोस्ट में हम बात करेंगे कि Share Market से पैसे कैसे कमाए (Share Market Guide in Hindi) और यह भी जानेंगे की कौन सी सबसे अच्छी Share Market Books को हिंदी में फ्री में डाउनलोड करके इसमें काम किया जा सकता है।

तो बिना देर किए चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं कि शेयर बाजार में काम करने के लिए गाइड क्या है?

Table of Contents

1. शेयर बाजार का परिचय

शेयर बाजार एक ऐसा बाजार है जहां कई अलग-अलग कंपनियों के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं। यह किसी भी अन्य सामान्य बाजार की तरह है जहां लोग शेयर खरीदने और बेचने जाते हैं। इसका काम अब ऑफलाइन तक सीमित नहीं रह गया है, बल्कि अब इसे ऑनलाइन भी कर दिया गया है।

लोग इसे खरीदकर अपना पैसा लगाते हैं। इन शेयरों की कीमत बढ़ती और घटती रहती है। कीमत बढ़ने पर आप इसे बेच सकते हैं।

एक समय था जब तकनीक इतनी उन्नत नहीं थी और शेयरों को मौखिक बोलियों के माध्यम से खरीदा और बेचा जाता था। लेकिन अब शेयर बाजार का सारा काम और शेयरों का लेन-देन स्टॉक एक्सचेंज के नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटरों के जरिए होता है।

आज शेयर बाजार का सारा काम इंटरनेट का इस्तेमाल करके घर बैठे लोग ही करते हैं। आप दुनिया में कहीं भी हों, आप वहां से शेयर बाजार में काम कर सकते हैं।

आज मामला यह है कि खरीद-फरोख्त का धंधा करने वाले लोग एक-दूसरे को पहचान भी नहीं पाते।

आज के समय में अगर आपके पास पैसा है तो लोग ही आपको वैल्यू देते हैं। हर कोई एक आरामदायक जीवन चाहता है और इसके लिए हर संभव प्रयास करता है। जब आप अपने सपनों को पूरा करना चाहते हैं तब भी इसकी जरूरत होती है।

हम यहां पैसे कमाने के बिल्कुल अलग तरीके के बारे में बात करेंगे। हम जिस तरीके के बारे में बात करने जा रहे हैं, उसके बारे में आपने अक्सर सुना होगा।

फिल्मों, टेलीविजन और समाचारों के माध्यम से हमें अक्सर पता चलता है कि बड़ी कंपनियां अपने शेयर बेचती हैं।

कभी शेयर की कीमत बढ़ जाती है तो कभी घट जाती है। लोग इन शेयरों को बहुत ही कम समय में खरीद और बेचकर अच्छा पैसा कमाते हैं।

2. शेयर बाजार की परिभाषा

यह एक ऐसी जगह है जहां कंपनियां अपने शेयर बाजार में आम जनता को खरीदने और बेचने के लिए जारी करती हैं।

जिसके जरिए कंपनियां अपने कारोबार में हिस्सेदारी खरीदने का मौका देती हैं।

जिसे खरीदकर हम उस कंपनी के भागीदार बन जाते हैं। किसी भी स्टॉक की कीमत में उतार-चढ़ाव कंपनी की स्थिति पर निर्भर करता है।

शेयर बाजार में बहुत कम समय में पैसा कमाया जाता है, लेकिन यह भी सच है कि इस बाजार में पैसा बहुत आसानी से डूब जाता है। यह सब कंपनी के व्यापार और व्यापार में उतार-चढ़ाव पर आधारित है।

3. Share Market Kya Hai ? What is Share Market in Hindi

शेयर बाजार और शेयर बाजार एक ऐसा बाजार है जहां कई कंपनियों के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं। यह एक ऐसी जगह है जहां कुछ लोग या तो बहुत पैसा कमाते हैं या अपना सारा पैसा खो देते हैं। किसी कंपनी का शेयर खरीदने का मतलब उस कंपनी में शेयरधारक बनना है।

आप जितनी राशि का निवेश करते हैं, उसके अनुसार आप उस कंपनी के कुछ प्रतिशत के मालिक बन जाते हैं। जिसका अर्थ है कि यदि भविष्य में उस कंपनी को लाभ होगा, तो आपके द्वारा निवेश किया गया धन आपको दोगुना मिलेगा और यदि हानि होती है तो आपको एक पैसा भी नहीं मिलेगा यानी आप पूरी तरह से खो देंगे।

जिस तरह शेयर बाजार में पैसा कमाना आसान है, उसी तरह यहां पैसा कमाना भी उतना ही आसान है क्योंकि शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं.

4. Share Market कैसे शुरू करें – Share Market में Invest कैसे करें हिंदी में?

आप इस बारे में थोड़ा बहुत समझ गए होंगे। तो आइए अब जानते हैं कि इस बाजार में निवेश कैसे करें?

देखिए, बहुत से लोग जानते हैं कि इसमें निवेश करने से पैसा कमाया जाता है, लेकिन बहुत कम लोगों को इस बात की जानकारी होती है कि इसमें निवेश कैसे करें? इसके बारे में भी आपको इस पोस्ट में जानकारी मिलेगी।

निवेश करने के लिए एक स्टॉक ब्रोकर की आवश्यकता होती है। आप इसमें सीधे निवेश करने नहीं जा सकते। किसी भी स्टॉक को खरीदने और बेचने के लिए स्टॉक ब्रोकर का होना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर आप एक निवेशक हैं तो यही आपको इस बाजार में ले जाता है।

आप समझ गए होंगे कि Stock Broker का क्या महत्व है, लेकिन आखिर Stock Broker इसमें निवेश करने में हमारी मदद कैसे करता है? तो इसके लिए सबसे पहले आपको एक Stock Broker ढूंढ़ना होगा।

आपको मार्केट में कई ब्रोकर मिल जाएंगे जैसे अपस्टॉक्स, ज़ेरोधा, शेयरखान, एंजेल ब्रोकिंग, आईसीआईसीआई डायरेक्ट आदि।

जब आप उनसे संपर्क करेंगे तो वे आपके लिए एक खाता खोलेंगे ताकि आप उसमें निवेश कर सकें। निवेश के लिए आवश्यक खाते नीचे दिए गए हैं।

  1. डीमैट खाता
  2. ट्रेडिंग खाता

जब आपने ये दोनों खाते एक स्टॉक ब्रोकर के माध्यम से खोले हैं, तो आप उसके बाद अपने शेयर खरीदना और बेचना शुरू कर सकते हैं।

बाजार में निवेश करने से पहले आपको इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए। आपको कई ऐसे फ्रॉड मिल जाएंगे जो आपका पैसा खा जाएंगे।

इसलिए कहीं भी पैसा लगाने से पहले उस कंपनी के बारे में पूरी जानकारी ले लें। कंपनी की प्रतिष्ठा और विश्वसनीयता की जांच करना सुनिश्चित करें।

अब आपके मन में एक सवाल आ रहा होगा कि आखिर निवेश करने के लिए कितना और कम से कम कितना पैसा लगाना पड़ता है।

शुरुआत में इसका ज्ञान पर्याप्त नहीं होता है। इसलिए लोगों के मन में ऐसे कई सवाल आते हैं। आइए इसका जवाब भी जानते हैं।

बाजार में न्यूनतम निवेश करने के लिए कोई नियम लागू नहीं है। ऐसी कोई सीमा नहीं दी गई है कि कम से कम आपको इतना पैसा निवेश करना होगा।

आप निवेश करने के लिए $1 मूल्य के शेयर खरीद सकते हैं और अधिकतम राशि जो आप निवेश करना चाहते हैं। वैसे आपके लिए बाजार में निवेश करने के लिए एक अच्छा स्टॉक ब्रोकर चुनना बहुत जरूरी है।

ब्रोकर आपसे मार्केट में ट्रेडिंग के लिए ब्रोकरेज भी चार्ज करते हैं, इसलिए उनकी सर्विस और चार्ज को ध्यान में रखते हुए उन्हें चुनें।

5. शेयर बाजार में पैसा कैसे निवेश करें?

शेयर बाजार में शेयर खरीदने के लिए आपको एक डीमैट अकाउंट बनाना होगा। इसके भी दो तरीके हैं,

#1 पहला तरीका

पहला तरीका है कि आप किसी ब्रोकर यानि ब्रोकर के पास जाकर डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं।

हमारे हिस्से का पैसा डीमैट खाते में रखा जाता है, जैसे हम अपने पैसे बैंक के खाते में रखते हैं। अगर आप शेयर बाजार में निवेश कर रहे हैं तो आपका डीमैट अकाउंट होना बहुत जरूरी है।

क्योंकि कंपनी के मुनाफा कमाने के बाद आपको मिलने वाला सारा पैसा आपके बैंक खाते में नहीं बल्कि आपके डीमैट खाते में जाएगा और डीमैट खाता आपके बचत खाते से जुड़ा हुआ है, आप चाहें तो उस डीमैट खाते से आपके बैंक खाते में आ जाएंगे। आप बाद में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।

डीमैट अकाउंट बनाने के लिए आपका किसी भी बैंक में सेविंग अकाउंट होना बहुत जरूरी है और प्रूफ के लिए पैन कार्ड की कॉपी और एड्रेस प्रूफ की जरूरत होती है।

#2 दूसरा तरीका

दूसरा तरीका यह है कि आप किसी भी बैंक में जाकर अपना डीमैट खाता खोल सकते हैं।

लेकिन अगर आप किसी ब्रोकर के पास अपना अकाउंट खोलते हैं तो आपको इससे ज्यादा फायदा होगा। क्योंकि एक तो आपको अच्छा सपोर्ट मिलेगा और दूसरा आपके निवेश के अनुसार वे आपको एक अच्छी कंपनी का सुझाव देते हैं जहां आप अपना पैसा लगा सकते हैं। ऐसा करने के लिए वे पैसे भी लेते हैं।

भारत में दो मुख्य स्टॉक एक्सचेंज हैं, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई), जहां शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं। ये ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज के सदस्य होते हैं, इनके जरिए ही हम स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेड कर सकते हैं। हम सीधे शेयर बाजार में जाकर किसी भी शेयर को खरीद या बेच नहीं सकते हैं।

#3 डीमैट खाते के लिए आवश्यक दस्तावेज।

  • पैन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • खाता चेक बुक

6. शेयर बाजार में शेयर कब खरीदें?

शेयर बाजार क्या है इसका थोड़ा अंदाजा तो आप लगा ही चुके होंगे। आइए जानते हैं शेयर बाजार में निवेश कैसे करें हिंदी में? शेयर बाजार में शेयर खरीदने से पहले आपको सबसे पहले इस लाइन में अनुभव हासिल करना चाहिए कि आपको यहां कब और कैसे निवेश करना चाहिए। और आप अपना पैसा किस कंपनी में लगाएंगे तो आपको लाभ होगा।

इन सब बातों का पता लगाएं, ज्ञान बटोरें, तभी जाकर शेयर बाजार में निवेश करें। शेयर बाजार में किस कंपनी का शेयर बढ़ा या गिरा यह जानने के लिए आप इकोनॉमिक टाइम्स जैसे अखबार पढ़ सकते हैं या एनडीटीवी बिजनेस न्यूज चैनल भी देख सकते हैं जहां से आपको What is Share Market in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी।

यह जगह काफी जोखिम भरी है इसलिए आपको यहां तभी निवेश करना चाहिए जब आपकी आर्थिक स्थिति ठीक हो ताकि जब आपको नुकसान हो तो आपको उस नुकसान पर ज्यादा फर्क न पड़े। या तो आप यह भी कर सकते हैं, शुरुआत में आप थोड़े से पैसे से Share Market in Hindi में निवेश करें ताकि आपको आगे जाकर ज्यादा झटका न लगे। जैसे-जैसे इस क्षेत्र में आपका ज्ञान और अनुभव बढ़ता है, आप धीरे-धीरे अपना निवेश बढ़ा सकते हैं।

अगर आप अपने पैसे को Share Market में निवेश करना चाहते हैं तो आप Discount Broker “Zerodha” पर अपना अकाउंट बना सकते हैं। इसमें आप बहुत जल्द और आसानी से डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं और उसमें शेयर खरीद सकते हैं।

शेयर बाजार में निवेश करने से पहले आपको इस बाजार के बारे में अधिक जानकारी अवश्य लेनी चाहिए, नहीं तो इस बाजार में कई धोखे हैं। कई बार ऐसा होता है कि कुछ कंपनियां धोखेबाज होती हैं और अगर आप उस कंपनी के शेयर खरीदकर अपना पैसा लगाते हैं तो ऐसी कंपनियां सबके पैसे लेकर भाग जाती हैं।

और फिर आपके द्वारा लगाया गया सारा पैसा चला जाता है। इसलिए किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने से पहले उसकी बैकग्राउंड डिटेल अच्छी तरह से जांच लें।

#1 समर्थन स्तर क्या है?

समर्थन, या समर्थन स्तर, उस मूल्य स्तर को संदर्भित करता है जिसके नीचे परिसंपत्ति की कीमत उस समय कम से कम गिरने की संभावना है।

किसी भी परिसंपत्ति का समर्थन स्तर उन खरीदारों द्वारा बनाया जाता है जो बाजार में प्रवेश कर रहे होते हैं जब भी परिसंपत्ति कम कीमत पर जाती है।

#2 समर्थन स्तर कैसे बनाया जाता है?

तकनीकी विश्लेषण के लिए, उस समय अवधि के दौरान संपत्ति के सभी निम्नतम चढ़ावों को ध्यान में रखते हुए सरलतम समर्थन स्तर को चार्ट करने के लिए एक रेखा खींची जाती है।

यह समर्थन रेखा या तो सपाट है या समग्र मूल्य प्रवृत्ति के अनुसार ऊपर या नीचे की ओर झुकी जा सकती है। साथ ही, अन्य तकनीकी संकेतक और चार्टिंग तकनीकों का भी अधिक उन्नत संस्करणों के समर्थन स्तर की पहचान करने के लिए उपयोग किया जाता है।

#3 प्रतिरोध स्तर क्या है?

प्रतिरोध या प्रतिरोध स्तर, एक ऐसा मूल्य बिंदु है जहां परिसंपत्ति की कीमत में वृद्धि में बाधा होती है क्योंकि अचानक कई विक्रेता अपनी संपत्ति को उसी कीमत पर बेचना चाहते हैं।

मूल्य कार्रवाई इस बात पर निर्भर करती है कि प्रतिरोध की रेखा सपाट है या झुकी हुई है। बैंड, ट्रेंडलाइन और मूविंग एवरेज को शामिल करते हुए प्रतिरोध की पहचान करने के लिए कई उन्नत तकनीकें हैं।

#4 सपोर्ट लेवल और रेजिस्टेंस लेवल में क्या अंतर है?

समर्थन और प्रतिरोध स्टॉक के चार्ट में, दो अलग-अलग मूल्य बिंदु होते हैं। जिसके बारे में जानना बेहद जरूरी है।

#5 समर्थन स्तर की गणना

आइए अब जानते हैं समर्थन मूल्य के बारे में। समर्थन मूल्य चार्ट का मूल्य बिंदु है, जहां से खरीदारों की संख्या विक्रेता की तुलना में अधिक होने की संभावना है, और इसलिए स्टॉक मूल्य समर्थन मूल्य बिंदु से ऊपर की ओर चढ़ने की संभावना है।

दूसरी ओर, प्रतिरोध मूल्य चार्ट का मूल्य बिंदु है, जहां से खरीदारों की तुलना में अधिक विक्रेताओं की संभावना है, और इसलिए स्टॉक की कीमत प्रतिरोध मूल्य बिंदु से नीचे गिरने की संभावना है। है।

[su_note note_color=”#fffbde” text_color=”#000000″]जब भी प्राइस एक्शन इन दोनों स्तरों में से किसी एक का उल्लंघन करता है जो या तो समर्थन या प्रतिरोध स्तर है, तो इस स्थिति को एक ट्रेडिंग अवसर माना जाता है।[/su_note]

7. शेयर मार्केट डाउन क्यों होता है हिंदी में

मौजूदा समय में शेयर बाजार के नीचे जाने के कई कारण हैं। आइए जानते हैं उन टॉपिक्स के बारे में।

  1. जैसा कि आप शायद जानते हैं कि किसी एक बड़ी चट्टान की आपदा के कारण शेयर बाजार नीचे चला जाता है। वहीं, कोरोना वायरस आपदा के कारण उपभोक्ता व्यवहार में बड़ा बदलाव आया है, वहीं इससे व्यवसायों को काफी नुकसान होता है, जिससे वे अपने स्टॉक को अल्पावधि की कमाई के लिए बेच देते हैं। शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं।
  2. इस कोरोनावायरस संकट का अभी तक कोई सही समाधान नहीं है, जिससे निवेशकों की धारणा में भय पैदा हो। वहीं, इससे शेयरों में भारी गिरावट देखने को मिल रही है।
  3. जबकि विदेशी संस्थागत निवेशकों द्वारा, मुख्य रूप से ईटीएफ, इस वैश्विक जोखिम से बचने के दौरान बेचते हैं। इससे शेयर बाजार में काफी गिरावट देखने को मिल रही है। उन्होंने इस मार्च में डर के मारे करीब 25,000 करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं।

8. शेयर बाजार का गणित

अगर आप भी मेरी तरह लंबे समय से शेयर बाजार (इक्विटी और एफएंडओ दोनों) में सक्रिय हैं, तो आपको शेयर बाजार के रहस्यों के बारे में जरूर पता होना चाहिए। अगर नहीं तो मैं आपको कुछ ऐसे राज के बारे में बताऊंगा जो आपको जरूर पसंद आएंगे और इससे आपको काफी कुछ सीखने को भी मिलेगा।

आइए उन रहस्यों पर एक नज़र डालें जो मैंने वर्षों से सीखे हैं:

  1. शेयर बाजार उतना आसान नहीं है जितना ऊपर से लगता है। इसमें इनसाइडर ट्रेडिंग होती है। बाजार हमेशा आपसे ज्यादा जानता है। तो हर खरीदार के लिए एक विक्रेता होता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप इसमें पैसे नहीं कमा सकते, यह बस थोड़ा मुश्किल है।
  2. ऐसी कोई ‘अंतिम’ रणनीति/संकेतक नहीं है। आपको वैल्यू स्ट्रैटेजी (सस्ते क्वालिटी स्टॉक खरीदना) या मोमेंटम स्ट्रैटेजी (ग्रोथ स्टॉक खरीदना) या किसी अन्य चीज के अनुसार निवेश करना होगा। चाहे आप टेक्निकल ट्रेडर हों या फंडामेंटल इन्वेस्टर, आपके पास अपनी खुद की एक स्ट्रैटेजी होनी चाहिए, जिसके इस्तेमाल से आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।
  1. सही तरीके से ट्रेडिंग करना या निवेश करना बिल्कुल भी आसान नहीं है, अगर आपको ट्रेडिंग करने में मजा आ रहा है तो इसका मतलब है कि आप निश्चित रूप से कुछ गलत कर रहे हैं।
  2. आपको हमेशा ज्यादा से ज्यादा पढ़ना चाहिए। वहीं आपको दूसरों की बातों को कम सुनना चाहिए।
  3. 90% से अधिक व्यापारी वास्तव में व्यापार नहीं जानते हैं, वे केवल दूसरों का अनुसरण करके पैसा कमाना चाहते हैं।
  4. ट्रेडिंग/निवेश एक बहुत ही अकेला सफर है। भले ही आप शुरुआत में लोगों की नकल करके पैसा कमा सकते हैं, लेकिन बाद में आपको अपनी रणनीति खुद बनानी होगी, नहीं तो बाद में आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है।
  5. स्टॉक में निवेश करने से पहले, आपको शेयरों का मौलिक विश्लेषण करना पता होना चाहिए।
  6. निवेशकों को पहले यह सीखना चाहिए कि वे कंपनियों की वार्षिक रिपोर्ट कैसे पढ़ सकते हैं, जबकि उन्हें वित्तीय शर्तों को भी समझना होगा।
  7. शेयरों में निवेश हमेशा लंबी अवधि के लिए किया जाता है।
  8. किसी भी स्टॉक में निवेश करने से पहले आपको खुद उस स्टॉक से जुड़ी जानकारी हासिल करनी होगी, वहीं उस विषय में आपको खुद को अपडेट भी करना होगा।
  9. खरीदने की तरह ही स्टॉक बेचना भी सही समय पर बहुत जरूरी है।

9. शेयर बाजार कैसे सीखें ?

जल्दी अमीर बनने का शौक सभी को होता है। इसलिए वे सभी ऐसे त्वरित और आसान तरीकों की तलाश में हैं जो उन्हें कम समय में अमीर बना दें और उनके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ भी लाएँ।

ऐसे में हर कोई शेयर मार्केट को एक ऐसी तकनीक मानता है, जहां से वह कम समय में करोड़ों रुपये कमा सकता है। इसलिए वे अक्सर ऐसे Share Market Tips in Hindi की तलाश में रहते हैं जो जल्दी से इस्तेमाल करके अमीर बन सकें। तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे शेयर मार्केट टिप्स के बारे में जो सभी शुरुआती निवेशकों को जरूर जानना चाहिए।

#1 पहले सीखो फिर आगे बढ़ो

किसी भी चीज में हाथ आजमाने से पहले आपको पहले उसे ठीक से जान लेना चाहिए। इसके लिए आपको पढ़ाई करनी होगी।

ऐसे में आपको पहले शेयर बाजार सीखना होगा, उसके बाद ही आप उसमें अपना पैसा निवेश करें। Share Market की जानकारी लिए बिना आपको आगे नहीं बढ़ना चाहिए।

#2 अपना शोध स्वयं करें

रिसर्च का नाम सुनते ही कई लोग इससे दूर भागते हैं. लेकिन शेयर बाजार के संदर्भ में ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए। क्योंकि रिसर्च ही आपको शेयर बाजार में सफल बना सकती है।

वहीं कई टीवी चैनलों में आपको कई मार्केट एक्सपर्ट मिल जाएंगे जो आपको शेयरों की नॉलेज दे रहे हैं। वैसे उनकी कुछ बातें सही हो सकती हैं, लेकिन अगर वह इतनी आसानी से शेयरों की कीमतों का अनुमान लगा पाते तो घर बैठे ही पैसा कमा रहे होते।

आप समझ रहे हैं कि मैं किस ओर इशारा कर रहा हूं। इसलिए मेरी सलाह है कि आप अपना शोध स्वयं ही करें।

#3 दीर्घकालिक लक्ष्य निर्धारित करें

इस बात को अच्छी तरह समझ लें कि निवेश चाहे कुछ भी हो, सभी निवेश लंबी अवधि में ही अच्छे परिणाम देते हैं। ऐसे में अगर आप भी शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं तो इसे लॉन्ग टर्म समझें, तभी आप इसमें प्रॉफिट कमा सकते हैं।

#4 अपनी जोखिम सहनशीलता को समझें

यहां रिस्क टॉलरेंस कहने का मतलब है कि रिस्क लेने की हर किसी की एक लिमिट होती है। जहां तक ​​उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि उन्हें नुकसान हो या नफा।

ऐसे में चूंकि शेयर बाजार थोड़ा जोखिम भरा है, इसलिए जितना जोखिम उठा सकते हैं, उसमें निवेश करें। क्योंकि अगर आप ज्यादा निवेश करते हैं तो आपका नुकसान हो जाता है तो आपको कंगाल होने से कोई नहीं रोक सकता। अपनी जोखिम सहने की क्षमता के अनुसार अपना पोर्टफोलियो तैयार करें।

#5 अनुसंधान और योजना

आप किसी भी क्षेत्र से क्यों नहीं हैं? अच्छी रिसर्च और प्लानिंग सभी के लिए बहुत जरूरी है।

क्योंकि लंबी अवधि की सफलता में, यह शोध और योजना आपके लिए अत्यंत उपयोगी है। शेयरों का चयन करते समय, उन पर अच्छी तरह से शोध करें। ताकि आपको बाद में पछताना न पड़े।

#6 अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखें

शेयर बाजार में कई बार ऐसा होता है कि आप अपने इमोशन को खो देते हैं, जिससे आपको काफी नुकसान भी हो सकता है।

इन सब चीजों से दूर रहने के लिए आपको अपने इमोशन पर कंट्रोल करना सीखना होगा तभी आप एक अच्छे इन्वेस्टर बन सकते हैं। इससे आपको लाभ या हानि हो सकती है।

#7 पहले बेसिक्स क्लियर करें

सभी विषयों की तरह, शेयर बाजार में भी कुछ मूल बातें होती हैं, जिन्हें सभी निवेशकों को समझना चाहिए। इसलिए, शेयर बाजार में अपना पैसा निवेश करने से पहले, आपको इसकी सभी मूल बातों से पूरी तरह वाकिफ होना चाहिए। तभी आप अपने निवेश में सफल हो सकते हैं।

#8 अपने निवेश में विविधता लाएं

आपको भी अन्य सफल निवेशकों की तरह अपने निवेश में विविधता लाने की जरूरत है।

उनका कहना है कि आपको अपने सभी अंडे एक कंटेनर में नहीं रखना चाहिए क्योंकि अगर कोई दुर्घटना हो जाती है तो आपको अपने सभी अंडों से हाथ धोना पड़ सकता है।

यह नियम उसी निवेश में भी लागू होता है। आपको अपना सारा पैसा एक शेयर में निवेश नहीं करना चाहिए। बल्कि अलग-अलग कैटेगरी के शेयरों को अपने पोर्टफोलियो में रखना चाहिए, जिससे आपके निवेश का जोखिम डायवर्सिफाइड हो जाता है।

साथ ही आप अपने जोखिम को भी कम कर सकते हैं।

#9 अच्छी कंपनियों के शेयरों में अपना निवेश करें

कभी भी किसी के बहकावे में न आएं। आपको हमेशा उन कंपनियों के शेयरों में निवेश करना चाहिए जिन्हें आप अच्छी तरह से समझते हैं और उनके उत्पादों का उपयोग करते हैं।

ये थे कुछ ऐसे ही Share Market Tips in Hindi – Share Market Tips जो आगे शेयर मार्केट के सफर में आपके बहुत काम आने वाले हैं।

10. शेयर बाजार कब बढ़ता है और कब गिरता है?

शेयर बाजार के बढ़ने और घटने का मुख्य कारण मांग और आपूर्ति है।

मांग और आपूर्ति

मार्केट में आपको दो तरह के लोग देखने को मिल जाएंगे, लेकिन इन दोनों की राय अलग-अलग है।

कुछ लोग सोचते हैं कि बाजार बढ़ेगा और कुछ लोग सोचते हैं कि बाजार घटेगा। इसे समझने के लिए दो बातों को समझना बेहद जरूरी है।

  1. यदि मांग बढ़ती है या आपूर्ति से अधिक है, तो कीमत या कीमत में वृद्धि होती है।
  2. दूसरी ओर, यदि मांग के साथ आपूर्ति बढ़ती है, तो कीमत या कीमत में कमी होती है।

आइए इसे एक उदाहरण से और अच्छे से समझते हैं।

मान लीजिए कि SBI अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा करता है और उनका शुद्ध लाभ मार्जिन लगभग 100% बढ़ जाता है। यह प्रदर्शन वास्तव में अपेक्षा से काफी बेहतर है।

वहीं आप और हम जैसे लोग जानते हैं कि एसबीआई के शेयर बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं अगर आप एसबीआई में निवेश करते हैं तो आपको अच्छे नतीजे देखने को मिलेंगे।

मान लेते हैं कि SBI के शेयर की कीमत अब 250 रुपये है। अब आप 100 शेयरों पर बोली लगाएंगे वह भी 250 रुपये में लेकिन अब कोई भी आपको इस शेयर को बेचना नहीं चाहता क्योंकि सभी को लगता है कि भविष्य में एसबीआई के शेयर की कीमत और बढ़ने वाली है।

ऐसे में आप SBI के शेयर को खरीदने के लिए खरीद मूल्य बढ़ा देते हैं, वह भी 255 रुपये, फिर भी कोई इसे बेचने को तैयार नहीं है, ऐसे में मांग आपूर्ति से ज्यादा है, इसलिए इसकी कीमत बढ़ गई है. अभी 260 रुपये। .

आप इस कीमत पर भी खरीदना चाहते हैं और अब कोई आपको 260 रुपये में बेचना चाहता है। इसमें आप देखेंगे कि जहां पहले शेयर की कीमत 250 रुपये थी, वह अब बढ़कर 260 हो गई है।

उसी तरह जब सभी को लगता है कि कंपनी ठीक से प्रदर्शन नहीं कर रही है, तो शेयर की कीमत अपने आप कम हो जाती है, जिसमें अधिक शेयरधारक अपने शेयर बेचना चाहते हैं, जबकि कोई भी इसे खरीदना नहीं चाहता है, जिससे शेयर की कीमत में गिरावट देखने को मिलेगी।

आप वास्तव में निराशावादियों (निराशावादियों) से खरीदते हैं और आशावादी (आशावादी) को बेचते हैं।

ठीक यही या यही कारण है कि शेयर की कीमत में उतार-चढ़ाव होता है।

11. शेयर खरीदने के कुछ महत्वपूर्ण टिप्स:

इसमें पैसा लगाना जोखिम भरा व्यवसाय है। लेकिन जोखिम तब तक है जब तक आपके पास जानकारी न हो।

एक बार जब आपको इसके बारे में अच्छी जानकारी मिल जाती है तो आपको बस अपने दिमाग और फोकस से काम करना होता है।

किसी भी काम को जल्दबाजी में नहीं करना चाहिए। ज्यादातर लोग शेयर बाजार में अपना पैसा खो देते हैं।

क्या आप जानते हैं इसका कारण क्या है?

इसका कारण लोभ है। आपने बचपन से सुना होगा कि लालच एक बुरी ताकत है और यह इस मंच में पूरी तरह फिट बैठता है। पैसा निवेश करने से पहले आपको किन बातों का ध्यान रखना है। आइए जानते हैं कुछ जरूरी टिप्स।

  • शेयर बाजार में निवेश करने के लिए बैंक खाता, डीमैट खाता, ट्रेडिंग खाता होना अनिवार्य है।
  • निवेश करने से पहले यह शोध कर लें कि जिस कंपनी के शेयर आप खरीदना चाहते हैं उसका कारोबार कैसा है, प्रदर्शन कैसा है। कंपनी का मैनेजमेंट अच्छा है या नहीं। इसके इतिहास के बारे में जानकारी लेना भी आवश्यक है कि उस कंपनी का इतिहास कैसा रहा है। समय-समय पर इसमें कैसे उतार-चढ़ाव आया है? कुल मिलाकर आपको निवेश करने वाली कंपनी के बारे में हर जानकारी लेनी होती है, उसके बाद ही आपको उसका स्टॉक खरीदना होता है।
  • निवेशकों को केवल अच्छे फंडामेंटल वाली कंपनियों में ही निवेश करना चाहिए।
  • शेयर बाजार में पैसा लगाने वाले लोगों को जिस चीज पर सबसे ज्यादा नियंत्रण रखना चाहिए वह है लालच। इसमें सबसे ज्यादा लालची लोगों का पैसा डूब जाता है। अगर आप इसमें काम करना चाहते हैं तो आपको धैर्य के साथ काम करना होगा क्योंकि कई मौके ऐसे होते हैं जब आपको लगता है कि आप थोड़ा और कमा लेंगे तो आप स्टॉक बेच देंगे और इस चक्कर में अचानक इनकी कीमत कम हो जाती है और एक नुकसान है।
  • नवागंतुकों के लिए सबसे अच्छा विकल्प दीर्घकालिक निवेश करना है। बाजार के जानकारों के मुताबिक लॉन्ग टर्म ने निवेशकों को हमेशा अच्छा रिटर्न दिया है. इसी वजह से आपको लंबी अवधि के निवेश का नजरिया भी रखना चाहिए।
  • निवेशकों को इसे खरीदने और बेचने के लिए एक लक्ष्य मूल्य तय करना चाहिए। खरीदे गए स्टॉक को तभी बेचा जाना चाहिए जब लक्ष्य मूल्य पर पहुंच जाए।

12. भारत में कितने शेयर बाजार हैं?

हम जो शेयर खरीदते हैं उसके लिए बीच में ब्रोकर का होना जरूरी है। एक ब्रोकर हमारे देश के 2 मुख्य स्टॉक एक्सचेंजों से जुड़ा हुआ है।

  1. BSE – Bombay Stock Exchange ( बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज )
  2. NSE – National Stock Exchange ( नेशनल स्टॉक एक्सचेंज )

शेयर ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज के सदस्य होते हैं। इन दलालों के माध्यम से ही आम जनता बाजार में निवेश कर सकती है। सीधे शेयर बाजार से नहीं खरीदा जा सकता है।

जो लोग निवेश का काम करते हैं, वे एनएसई और बीएसई की हर गतिविधि पर नजर रखते हैं और उसी के आधार पर स्टॉक खरीदते और बेचते हैं। आप Zee Business, CNBC और NDTV प्रॉफिट चैनल देखकर निवेश बाजार की हर ताजा खबर के लिए लाइव अपडेट प्राप्त कर सकते हैं।

13. शेयर बाजार की किताबें हिंदी में मुफ्त डाउनलोड

अगर आप घर बैठे शेयर बाजार से पैसा कमाना चाहते हैं तो नीचे दी गई किताबों को पढ़ सकते हैं:

  • तकनीकी विश्लेषण और कैंडलस्टिक की पहचान – Amazon पर तकनीकी खरीदारी के लिए गाइड
  • शेयर बाजार गाइड (पीबी) पेपरबैक अमेज़न पर खरीदें
  • इंट्राडे ट्रेडिंग गाइड अमेज़न पर खरीदें

 

  • Technical Analysis Aur Candlestick Ki Pehchan – Guide To Technical Buy on Amazon
  • SHARE MARKET GUIDE (PB) Paperback Buy on Amazon
  • Intraday Trading Guide Buy on Amazon

14. शेयर बाजार की पूरी जानकारी

अगर आप इस पर ध्यान से काम करेंगे तो आप बहुत ही कम समय में अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

आप यह भी समझ गए होंगे कि शेयर बाजार में ऑनलाइन शेयर खरीदने से पहले सबसे ज्यादा किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

अगर आप दिए गए Share Market Tips in Hindi को अच्छी तरह से फॉलो करेंगे तो आप इस पर पूरी तरह से काम कर पाएंगे।

मुझे उम्मीद है कि आप समझ गए होंगे कि Share Market क्या है (What is Share Market in Hindi) और शेयर कैसे खरीदें?.

आपने यह भी सीखा कि Share Market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं और इसके लिए क्या करना पड़ता है।


यह भी पढ़ें :-


Technofact.in


Conclusion :-

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरा लेख शेयर मार्केट क्या है ? और शेयर कैसे खरीदते हैं | What is Share Market in Hindi पसंद आया होगा।

मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को Share Market के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये

जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनका समय भी बचेगा और उन्हें सारी जानकारी भी एक ही जगह मिल जाएगी।

अगर आपके मन में इस लेख शेयर बाजार में पैसा कैसे निवेश किया जाए इस बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ सुधार हो तो आप इसके लिए कम टिप्पणी लिख सकते हैं।

मुझे आशा है कि आपको यह पोस्ट Share Market Kya Hai ? और शेयर कैसे खरीदते हैं | What is Share Market in Hindi अच्छा लगा होगा। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया पर भी शेयर करें।

अगर आपने हमारे लेख को पूरा पढ़ लिया होगा तो अब तक आपको यह सारी जानकारी मिल गई होगी और आपको अपने प्रश्न का उत्तर भी मिल गया होगा, जिसे खोजते हुए आप हमारे ब्लॉग पर आए।

तो आज का पोस्ट आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताये और आगे से इस तरह के पोस्ट को पाने के लिए ईमेल न्यूज़ लेटर जरूर सब्सक्राइब करें।


! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

share this post

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here