TRP क्या है? TRP Rating कैसे निर्धारित की जाती है? In 2020

TRP क्या है? TRP Rating कैसे निर्धारित की जाती है? In 2020
TRP क्या है? TRP Rating कैसे निर्धारित की जाती है? In 2020

TRP क्या है? ( What Is TRP ): अगर आप टीवी देखते हैं, तो आपने TRP के बारे में जरूर सुना होगा। यदि नहीं, तो यह पोस्ट आपके लिए है, क्योंकि यहां मैं Television Rating Point पर विस्तार से बताने जा रहा हूं। इस पोस्ट में आपको TRP के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी। तो चलिए जानते हैं क्या है TRP क्या है ? TRP हिंदी में परिकलित कैसे होती है ।


यह भी पढ़ें :-


#1 TRP क्या है और यह कैसे निर्धारित होती है?

द कपिल शर्मा शो इस समय सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोर रहा है। यह टीवी धारावाहिक टॉप 10 TRP टीवी शो में नंबर एक पर है। कई अन्य टीवी चैनल शीर्ष पर रहे हैं।

आपने टीवी देखते हुए TRP के बारे में सुना होगा। लेकिन इस पोस्ट में, TRP क्या है, TRP की गणना कैसे की जाती है? इस सब के बारे में जानकारी उपलब्ध होगी। तो चलिए सबसे पहले जानते हैं कि TRP क्या है।

#2 TRP क्या है? ( What Is TRP )

TRP का फुल फॉर्म Television Rating Point है, यानी Television Rating Point को संक्षेप में TRP कहा जाता है।

TRP एक उपकरण है जो यह निर्धारित करता है कि कौन से कार्यक्रम या टीवी चैनल टीवी पर सबसे अधिक देखे जाते हैं।

यह अनुमान लगाया जाता है कि एक समाचार चैनल या एक कार्यक्रम या मनोरंजन चैनल की कितनी प्रसिद्धि है और कितने लोग इसे पसंद करते हैं, यह लोगों की पसंद को दर्शाता है।

भारत में, Television Audiance Mejorment इंडिया नामक एक Agency है, जो टीवी चैनलों की TRP का अनुमान लगाने के लिए काम करती है।

Agency यह पता लगाने के लिए विभिन्न आवृत्तियों की जांच करती है कि कौन से टीवी चैनल किस समय सबसे अधिक देखे जाते हैं। इसी तरह, कई हजार आवृत्तियों का विस्तार करके, यह कंपनी पूरे देश के प्रसिद्ध धारावाहिकों का अनुमान लगाती है।

इसके कारण, यह किसी भी कार्यक्रम या चैनल की लोकप्रियता को समझने में मदद करता है और यह जानना आसान है कि किस चैनल को सबसे अधिक देखा जाता है।

जितने ज्यादा लोग चैनल देखेंगे, उतने ही ज्यादा समय तक उस चैनल की TRP देखी जाएगी। यह TRP विज्ञापनदाताओं को लाभान्वित करता है और उनके लिए विज्ञापन खोजना आसान बनाता है।

#3 TRP Rating कैसे निर्धारित की जाती है?

भारतीय टेलिविज़न Audiance Mejorment Agency ऑफ़ इंडिया विभिन्न आवृत्तियों की जांच करती है ताकि पता लगाया जा सके कि कौन सा चैनल अधिक बार देखा जाता है, जिससे पता चलता है कि चैनल कितना लोकप्रिय है।

Agency इसी तरह कई हजार आवृत्तियों का विवरण देकर देश भर में लोकप्रिय टीवी चैनलों का अनुमान लगाती है। TRP मापने के लिए Agency एक विशेष प्रकार के गैजेट का उपयोग करती है।

TRP मापने वाले यंत्र को पीपल मीटर कहा जाता है। 20 मीटर की मदद से टीवी देखने वाले लोगों की आदतों पर नजर रखी जाती है।

TRP को मापने के लिए कुछ स्थानों पर “पीपल मीटर” स्थापित किया जाता है, एक आवृत्ति के माध्यम से जो यह पता लगाता है कि किस धारावाहिक को देखा जा रहा है और कितनी बार।

इस मीटर से टीवी से जुड़ी हर मिनट की जानकारी भारतीय Television Audiance Mejorment Agency को निगरानी टीम के माध्यम से भेजी जाती है। यह जानकारी मिलने के बाद, टीम तय करती है कि किस चैनल की TRP सबसे ज्यादा है।

सबसे लोकप्रिय चैनलों की सूची Television Rating Point (TRP) के अनुसार बनाई गई है और फिर शीर्ष 10 TRP टीवी धारावाहिकों के डेटा को साप्ताहिक या मासिक रूप से सार्वजनिक किया जाता है।

आज, केवल INTAM (Indian Television Audiance Mejorment) ही एकमात्र Agency है जो TRP को मापती है। इस तरह से TRP की गणना की जाती है।

#4 TRP का क्या महत्व है? (हिंदी में TRP महत्व)

TRP को इतना महत्व दिया जाता है क्योंकि यह सीधे चैनल के राजस्व से संबंधित है। एक चैनल की TRP जिसे व्यूअरशिप कम मिलती है और उसे विज्ञापन कम मिलते हैं।

T.R.P. विज्ञापनदाताओं के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। क्योंकि यह उन्हें आसानी से यह जानने में मदद करता है कि किस चैनल पर उन्हें विज्ञापन रखने से अधिकतम लाभ मिलेगा।

TRP डेटा विज्ञापनदाताओं के लिए बहुत उपयोगी है। प्रत्येक विज्ञापनदाता को उच्चतम TRP वाले चैनल पर विज्ञापन देना पसंद है, क्योंकि उसे अधिक दर्शक मिलते हैं।

चैनल को जितनी ज्यादा TRP मिलती है, उतने ही ज्यादा कॉन्ट्रैक्ट मिलते हैं और उतना ही ज्यादा कमाई होती है। मतलब, टीचिंग की TRP जितनी ज्यादा होगी, आप उतनी ही ज्यादा कमाई करेंगे।

यही कारण है कि हर कोई अपने चैनल की TRP बढ़ाने में लगा हुआ है और खुशी में अपने मंच को शीर्ष पर लाने की कोशिश करता है। यह चैनल पर काम करने वाले कलाकारों और चैनल मालिकों दोनों को लाभ पहुंचाता है।

#5 टीवी चैनल की TRP कैसे चेक करें?

“पीर मीटर” का उपयोग टीवी सीरियल और चैनल की TRP की जांच करने के लिए किया जाता है। ये मीटर निर्धारित करते हैं कि कौन सा चैनल विशिष्ट आवृत्ति द्वारा देखा जा रहा है।

पीपल्स मेटर्स के माध्यम से, लोगों के Television की 1 मिनट की जानकारी मॉनिटरिंग टीम (Indian Television Audiance Mejorment) को दी जाती है।

TRP का पता लगाने के लिए आपको अपने Television या डिश में एक सेटअप बॉक्स लगाने के लिए कहा जाता है। TRP की गणना इस सेटअप बॉक्स के माध्यम से की जाती है।

#6 TRP के टीवी चैनल की आय कैसे होती है?

अपने टीवी पर चैनल देखते समय, बीच-बीच में 1-2 मिनट के विज्ञापन जरूर देखें। यह इन्हीं के माध्यम से टीवी चैनल कमाता है। अधिकांश टीवी चैनलों के विज्ञापन कमाई के साधन के रूप में होते हैं।

विज्ञापनदाता अपनी कंपनी, उत्पाद और सेवा को बढ़ावा देने के लिए टीवी चैनलों पर अपना विज्ञापन दिखाने के लिए करोड़ों रुपये का भुगतान करते हैं।

अब जिस टीवी चैनल पर सबसे ज्यादा TRP होगी यानी लोग उसे सबसे ज्यादा देखेंगे। यही कारण है कि विज्ञापनदाता सबसे अधिक TRP वाले चैनलों पर विज्ञापन देना पसंद करते हैं।

इसके साथ, उनका विज्ञापन अधिकांश लोगों तक पहुंचता है और उन्हें अधिक लाभ मिलता है। चैनल की TRP जितनी अधिक होगी, विज्ञापनदाताओं को विज्ञापन दिखाने के लिए उतने ही अधिक पैसे लगेंगे।

सभी टीवी चैनल जैसे सोनी, स्टार प्लस, ज़ी टीवी, कलर्स और एनडीटीवी, आजतक इंडिया टीवी और अन्य सभी टीवी चैनल विज्ञापन के जरिए पैसा कमाते हैं।

#7 टीवी चैनल की TRP कम होने का क्या प्रभाव है?

किसी भी टीवी चैनल के दिए गए कार्यक्रम की कम TRP के कारण, यह सीधे उसकी कमाई को प्रभावित करता है। क्या TRP कम होने पर चैनल कम हो जाएगा, TRP ज्यादा होने पर चैनल को फायदा होगा।

हम इसे इस उदाहरण से समझ सकते हैं, मान लीजिए 5 कलाकार एक टीवी चैनल पर काम करते हैं, वे उन्हें प्रति वर्ष 10-10 लाख देते हैं और बाकी का खर्च 10 लाख रुपये है।

अब यदि उस चैनल की TRP अधिक है और विज्ञापनकर्ता उस चैनल पर 1 करोड़ विज्ञापन दे रहे हैं, तो चैनल मालिक 5 लोगों के वेतन को 10×5 = 50 और 10 खर्चों पर घटाकर 40 लाख बचाता है।

अब अगर उस चैनल की TRP नीचे गिरती है, तो विज्ञापनदाता उस पर विज्ञापन देना बंद कर देते हैं, तो आपके बॉस को ट्रिक का खर्च और काम करने वालों को पैसा देना होगा।


यह भी पढ़ें :-


Technofact.in


निष्कर्ष :-

इस पोस्ट में हमने चर्चा की है कि TRP क्या है, TRP कैसे तय की जाती है, TRP क्यों महत्वपूर्ण है, अधिक TRP होने के क्या फायदे हैं, टीवी चैनलों की TRP कैसे चेक की जाती है? इस सब के बारे में जानें।

हमने इस पोस्ट में TRP का अच्छी तरह से विस्तार करने की कोशिश की है। आशा है आपको इस पोस्ट में दी गई TRP की जानकारी पसंद आई होगी।

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !


अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !share this post

Previous articleBiography Of Mahendra Singh Dhoni :- M.S. धोनी की जीवनी
Next articleBest 5 Free Top Email Provider In 2020
मेरा नाम Rajat Panday है ओर TechnoFact.in मेरा ब्लॉग वैबसाइट है जहा मै हिन्दी मे इंटरनेट, मोबाइल, टेक्नालजी, टिप्स ट्रिक्स जैसी सारी जानकारी देता हु । मै कोशिश करूंगा की इस ब्लॉग के जरिये लोगो तक सही जानकारी हिन्दी भाषा मे प्राप्त हो सके । ! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here